समुद्र में एक साथ 2 हज़ार तैराक

7 अक्तूबर 2013 अतिम अपडेट 14:55 IST पर

हॉन्गकॉन्ग के विक्टोरिया बंदरगाह पर न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस शुरू हुई. इस रेस में शामिल हुए दो हज़ार तैराक.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
हॉन्गकॉन्ग के विक्टोरिया बंदरगाह पर न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस का आयोजन किया गया. डेढ़ किलोमीटर लंबी इस दौड़ में दो हज़ार तैराकों ने हिस्सा लिया.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
तैराकी दौड़ की शुरुआत हॉन्गकॉन्ग के कोलून समुद्र तट पर ली यू मुन से हुई. इसके बाद विक्टोरिया बंदरगाह पार करते हुए तैराक हॉन्गकॉन्ग के क्वैरी बे पार्क द्वीप तक गए.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
हॉन्गकॉन्ग के विक्टोरिया बंदरगाह से गुज़रने वाले इस समुद्री रास्ते से दुनियाभर के जहाज़ निकलते हैं. तैराकी दौड़ के चलते इस रास्ते को मालवाहक और यात्री जहाज़ों के लिए बंद कर दिया गया था.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
तैराकी दौड़ का आयोजन हॉन्गकॉन्ग एमेच्योर स्विमिंग एसोसिएशन की तरफ़ से किया गया था. 60 साल पुरानी यह एसोसिएशन ओलंपिक समेत कई प्रतियोगिताओं के लिए तैराकों को प्रशिक्षित करती है.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
क्रॉस हार्बर रेस का आयोजन पहली बार 1906 में किया गया था. इस तैराकी दौड़ को पिछले सत्तर साल से काफ़ी अहम प्रतियोगिताओं में शुमार किया जाता है. जिसे देखने को हज़ारों लोग मौजूद होते हैं.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
क्रॉस हार्बर रेस शारीरिक तौर पर तैराकों के लिए काफ़ी चुनौतीपूर्ण प्रतियोगिता है. इसमें बेहतर नतीजों के लिए तकनीकी योग्यता की ज़रूरत होती है. विक्टोरिया बंदरगाह को पार करना इसीलिए बच्चों का खेल नहीं है.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
पिछले साल पांचवीं एशियन ओपन वॉटर स्विमिंग चैंपियनशिप के साथ हुई न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस के दौरान क़रीब 16 सौ तैराकों ने हिस्सा लिया था.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
तैराकों को दौड़ एक घंटा 15 मिनट में पूरी करनी होती है. अगर कोई तैराक दौड़ के बीच मदद चाहता है, तो वह हाथ उठाकर साथ चल रही बोट से मदद मांग सकता है.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
हॉन्गकॉन्ग में होने वाली तैराकी दौड़ को मेजर स्पोर्ट्स इवेंट्स कमेटी ने एम मार्क का दर्जा दिया है. इसका मतलब है कि यह हॉन्गकॉन्ग के खेल आयोजनों में अंतर्राष्ट्रीय महत्व रखती है.
विक्टोरिया हार्बर, हॉन्गकॉन्ग, तैराक, न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस
हॉन्गकॉन्ग में होने वाली न्यू वर्ल्ड हार्बर रेस में हिस्सा लेने वाले हर तैराक को दो इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसपॉन्डर चिप दिए जाते हैं. इन्हें तैराकों को दोनों कलाइयों पर पहनना होता है. इसमें उनकी दौड़ का वक़्त और रफ़्तार रिकॉर्ड होते हैं.