सीरियाः हमले की आशंका के बीच पलायन

4 सितंबर 2013 अतिम अपडेट 08:59 IST पर

सीरिया में 50 लाख लोग विस्थापन का शिकार हैं. संयुक्त राष्ट्र के अनुसार बीस लाख लोगों को अपना घर छोड़कर शरणार्थी बनना पड़ा है.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
सीरिया में जारी हिंसा के बीच लोगों का पलायन जारी है. परिवार अपने साथ खाने-पीने के सामान जुटाकर शरणार्थी शिविरों में जगह लेने को मजबूर हैं.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
सीरिया में जारी हिंसा का यहां के बच्चों पर बहुत ज़्यादा प्रभाव पड़ा है. संयुक्त राष्ट्र की ओर से अस्थायी शरणार्थी शिविरों में उनके रहने के इंतज़ाम किए गए हैं.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
रिश्तेदारों से मिलने और ज़रूरत का सामान देने के लिए लोग शरणार्थी कैंपों में जा रहे हैं. हमले और युद्ध की आशंका के बीच वहां अफरातफ़री का माहौल है.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि सीरिया में चल रहे संघर्ष के दौरान कुल बीस लाख लोगों को घर छोड़कर शरणार्थी बनना पड़ा है. लोग शरणार्थी कैंपों में रहने को विवश हैं.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ सीरिया में 50 लाख लोग विस्थापन का शिकार हैं. इसका मतलब यह है कि देश की कुल आबादी का तिहाई सड़कों पर है.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
इराक़ के कुर्दिस्तान क्षेत्र के बाहरी शहर अल्बिर में नए शरणार्थी कैंप बन रहे हैं. शरणार्थी कैंपों में रहने वालों को नहीं पता कि वो कब तक अपने घरों में लौट पाएंगे.
सीरिया में पलायन को मजबूर लोग
सीरिया के वर्तमान हालात का बच्चों के ऊपर काफी विपरीत असर पड़ा है. वे शिक्षा और सुरक्षित बचपन के मूलभूत अधिकारों से महरूम हैं.