गोविंदा आला रे...

29 अगस्त 2013 अतिम अपडेट 16:54 IST पर

कृष्ण जन्माष्टमी पर मुंबई में दही हांडी की धूम रहती है. इस परंपरागत उत्सव में लड़कों के साथ लड़कियां भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती हैं. देखिए इस साल के गोविंदाओं की झलकियां.
 दही हांडी या गोविंदा
मुंबई में कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार में दही हांडी या गोविंदा की ख़ास जगह है. हर साल हज़ारों लोग इसमें हिस्सा लेते हैं.
 दही हांडी या गोविंदा
कृष्ण जन्माष्टमी के अगले दिन दही की एक हांडी को ज़मीन से काफी ऊपर टांग दिया जाता है. अलग-अलग टीमें मानव पिरामिड बनाकर इस हांडी को फोड़ने की कोशिश करती हैं.
 दही हांडी या गोविंदा
दही हांडी में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को गोविंदा कहा जाता है. ये नाम माखनचोर के रूप में जाने जाने वाले कृष्ण के एक नाम 'गोविंद' के आधार पर पड़ा है.
 दही हांडी
लड़कियां भी दही हांडी में किसी से पीछे नहीं रहती. मुंबई में स्वस्तिक महिला दही हांडी में भाग लेती लड़कियां.
 दही हांडी या गोविंदा
मुंबई घूमने आए सैलानी भी इस उत्सव में हिस्सा लेते हैं.
 दही हांडी या गोविंदा
मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर दही हांडी के लिए पिरामिड बनाते विदेशी सैलानी.
 दही हांडी या गोविंदा
गोरखनाथ महिला दही हांडी में मानव पिरामिड बनाने की कोशिश करती लड़कियां.