BBC navigation

धक धक करने लगा...

 बुधवार, 15 मई, 2013 को 15:29 IST तक के समाचार
  • माधुरी दीक्षित

    माधुरी दीक्षित ने फिल्मों में अपने करियर की शुरुआत 1984 में आई फिल्म 'अबोध' के साथ की.

    फिल्मों में आने से पहले माधुरी माइक्रोबायोलॉजी की छात्रा थीं और उसी क्षेत्र में आगे काम करना चाहती थीं.

  • माधुरी दीक्षित

    आज माधुरी दीक्षित का नाम हिंदी सिनेमा की सबसे सफल अभिनेत्रियों में लिया जाता है.

    लेकिन जब माधुरी ने अपने करियर की शुरुआत की थी तब कहानी कुछ और ही थी.

    उनकी पहली फिल्म 'अबोध' बॉक्स ऑफिस पर नहीं चल पाई.

    इसके बाद लगातार माधुरी ने कई फिल्मों में काम किया जो फ्लॉप रही.

    माधुरी की किस्मत बदली 1988 में आई फिल्म 'तेज़ाब' से.

  • माधुरी दीक्षित

    जब 'तेज़ाब' रिलीज़ हुई उस वक़्त माधुरी भारत में नहीं थीं.

    फिल्म रिलीज़ होने के कुछ समय बाद जब माधुरी भारत लौटीं तो एयरपोर्ट के बाहर उन्हें देखकर कुछ बच्चे मोहिनी मोहिनी कह कर बुलाने लगे.

    उनमें से एक बच्चे ने उनका ऑटोग्राफ भी लिया.

    अपनी पहली फिल्मों से निराश माधुरी को उम्मीद नहीं थी कि उनके साथ ऐसा कुछ होगा.

    वो पहली बार था जब माधुरी ने स्टारडम का स्वाद चखा.

  • माधुरी दीक्षित

    एक बार जो माधुरी दीक्षित की किस्मत का तारा चमका तो उसके बाद उन्होंने एक नहीं कई सुपरहिट फिल्में जैसे राम लखन, बेटा, दिल, साजन, हम आपके हैं कौन, दिल तो पागल है और देवदास कीं.

    मशहूर पेंटर एमएफ हुसैन को माधुरी की फिल्म 'हम आपके हैं कौन' इतनी पसंद आई की उन्होंने ये फिल्म 67 बार देखी.

    इतना ही नहीं, कहा जाता है जब माधुरी की फिल्म 'आजा नच ले' रिलीज़ हुई तो हुसैन ने पूरा का पूरा सिनेमाघर ही बुक करवा लिया.

    इतना ही नहीं माधुरी दीक्षित एमएफ हुसैन के लिए प्रेरणा बन गईं और हुसैन साहब ने माधुरी को लेकर पहले तो कुछ पेंटिंग और बाद में 'गज गामिनी' नाम की एक फिल्म ही बना डाली.

  • माधुरी दीक्षित

    माधुरी दीक्षित के प्रशंसकों में हुसैन साहब ही नहीं हैं ब्लकि कुछ दीवाने तो रांची के पप्पू सरदार जैसे भी हैं.

    पप्पू रांची में एक चाट की दुकान चलाते हैं और हर साल माधुरी के जन्मदिन पर समाज सेवा का कोई कार्य करते हैं.

    इस साल पप्पू ने 'सेव वॉटर' यानी जल बचाओ अभियान शुरू किया है.

    इस अभियान के अंतर्गत पप्पू ने 5,000 कार्ड बाटें हैं जिनमें पानी को बचाने की राय दी गई है.

    इतना ही नहीं उन्होंने शहर भर में माधुरी के पोस्टर भी लगवाए हैं.

    इन पोस्टरों में भी पानी को बचाने की अपील की गई है.

  • माधुरी दीक्षित

    माधुरी दिक्षित की अदाएं हो या फिर उनका डांस, कौन उनका दीवाना नहीं है.

    'एक दो तीन' से लेकर 'चोली के पीछे क्या है' तक और 'दीदी तेरा देवर दीवाना' से लेकर 'मार डाला' और 'आजा नचले' तक एक नहीं कई बार माधुरी ने अपने डांस का लोहा मनवाया है.

    नृत्य में महारथ हासिल करने के लिए माधुरी ने कत्थक का प्रशिक्षण भी लिया है.

  • माधुरी दीक्षित

    माधुरी दीक्षित के नृत्य की तारीफ करने वालों में सरोज खान से लेकर बिरजू महाराज तक सब शामिल हैं.

    बिरजू महाराज की कोरिओग्राफी में माधुरी ने देवदास के गानों पर डांस किया था.

    जहां माधुरी बिरजू महाराज से नृत्य सीखते हुए नहीं डरी वहीं जब उन्हें प्रभु देवा के साथ 'पुकार' फिल्म के गाने 'के सरा सरा' में डांस करना था तो उससे पहले उन्हें बुखार आ गया.

    फिल्म में माधुरी के सह-कलकार अनिल कपूर ने खुद बताया कि कैसे गाने की शूटिंग से पहले माधुरी बहुत ज़्यादा घबराई हुई थीं.

  • माधुरी दीक्षित

    25 सालों से भी लम्बे अपने फ़िल्मी करियर में माधुरी दीक्षित ने कई पुरस्कार अपने नाम किए हैं.

    हिंदी सिनेमा को उनके योगदान के लिए 2008 में माधुरी को भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से भी नवाज़ा गया.

  • माधुरी दीक्षित

    माधुरी दीक्षित उन गिनी चुनी अभिनेत्रियों में से हैं जिन्होंने कभी भी काम करना बंद नहीं किया.

    हालांकि 1999 में डॉक्टर नेने से शादी के बाद वो डेन्वर चलीं गईं लेकिन फिर भी बीच-बीच में वो फिल्में करती रहीं.

    'देवदास' और 'आजा नाच ले' उनकी शादी के बाद आईं कुछ फिल्में हैं.

  • माधुरी दीक्षित

    जिस माधुरी दीक्षित का ज़माना दीवाना है उसी माधुरी के पति डॉक्टर नेने ने शादी से पहले माधुरी की एक भी फिल्म नहीं देखी थी.

    माधुरी की मानें तो अच्छा ही हुआ कि डॉक्टर नेने ने उनकी कोई फिल्म नहीं देखी थी और वो इस बात से भी अनजान थे कि भारत में माधुरी कितनी बड़ी स्टार हैं.

    माधुरी कहती हैं इसी वजह से वो डॉक्टर नेने के साथ खुल कर बात कर पाईं और शादी करने का फैसला लिया.

    एक बार जब माधुरी से पूछा गया कि वो अपने बच्चों को अपनी कौन सी फिल्म दिखाएंगी तो माधुरी का जवाब था 'हम आपके हैं कौन', क्योंकि ये एक पारिवारिक फिल्म है और जो भारतीय सभ्यता का जीता जागता नमूना है.

  • माधुरी दीक्षित

    एक ज़माने में एक दूसरे की प्रतिद्वंदी रही माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी हाल ही में टीवी शो 'झलक दिखला जा' के मंच पर साथ में नज़र आईं.

    श्रीदेवी ने हाल ही में 'इंग्लिश विंग्लिश' के साथ वापसी की है.

    वहीं माधुरी जल्द ही 'डेढ़ इशिकिया' और 'गुलाब गैंग' में नज़र आएंगी.

    'गुलाब गैंग' में पहली बार माधुरी और जूही चावला साथ में नज़र आएंगी.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.