BBC navigation

दुनिया के सबसे मुश्किल रास्ते

 शनिवार, 2 फ़रवरी, 2013 को 14:03 IST तक के समाचार
  • काराकोरम हाइवे दुनिया में सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थित सड़क मानी जाती है. किसी जमाने में ये मशहूर सिल्क रोड का हिस्सा हुआ करती थी. 1200 किलोमीटर लंबी ये सड़क पाकिस्तान के एबटाबाद से चीन के कशगर तक जाती है. इस रास्ते में कुदरत के न जाने ऐसे कितने दिलकश नजारे दिखते हैं. (तस्वीर: लिंड्से ब्राउन/गेटी इमेज)
  • पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में कैनिंग स्टॉक रूट को पार करना रोमांच के शौकीन किसी भी व्यक्ति का सपना हो सकता है. इसे दुनिया के सबसे दुर्गम मार्गों में गिना जाता है और इसकी लंबाई 1,820 किलोमीटर है. (तस्वीर: जॉन हे/गेटी इमेज)
  • ये है बोलिविया की कैमिनो डे ला म्यूर्ते सड़क जिसे मौत की सड़क भी कहा जाता है. 80 किलोमीटर लंबी ये बदनाम सड़क ला पाज से युनगास इलाके तक जाती है. इस सड़क पर बहुत हादसे होते हैं. इस समस्या से निपटने के लिए सरकार ने 2007 में यहां आधुनिकिकरण से जुड़े कई काम कराए. अब इसे बदनामी की देन कहें या फिर खतरों का रोमांच, ये सड़क बहुत से सैलानियों को अपनी तरफ खींच रही है. (माइकल बॉयनी/गेटी इमेज)
  • हिमाचल प्रदेश से लद्दाख तक जाने वाले मनाली-लेह हाइवे को भारत के सबसे सुंदर मार्गों में से एक माना जाता है. लेकिन 490 किलोमीटर लंबी ये सड़क दुर्गम भी बहुत है. इस सड़क से गुजरते हुए आपका वास्ता ऊंची ऊंची पहाड़ियों, दर्रों, घाटियों, पिघलते ग्लेशियरों से खूब पड़ता है. प्राकृतिक छटा को कैमरों में कैद करने के लिए मचलने वाले फोटोग्राफरों के लिए ये जगह जन्नत से कम नहीं है. (तस्वीरः स्टेफान आउथ/गेटी इमेज)
  • ये है अल्जीरिया, नाइजर और नाइजीरिया से गुजरने वाले साढडे चार हजार किलोमीटर लंबे मार्ग ट्रांस-सहारा हाइवे पर सवारी का एक नजारा. इस सड़क पर ड्राइविंग के लिए बड़ी हिम्मत की जरूरत है. यहां न सिर्फ आपको सुरक्षा से जुड़ी चुनौतियों से पार पाना है बल्कि दुनिया के सबसे मुश्किल मौसम से भी आपका वास्ता पड़ेगा. (तस्वीर:फ्रांस लेमेंस/गेटी)

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.