BBC navigation

क्यों निकाली गई इनकी बच्चेदानी?

 शनिवार, 8 सितंबर, 2012 को 14:05 IST तक के समाचार

बिहार में ग़रीबी रेखा के नीचे रहने वालों के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना चालू की गई जिसके तहत ग़रीब लोग 30,000 रुपए तक का इलाज निजी अस्पतालों में करवा सकते हैं.

लेकिन यही योजना अब ग़रीबों के लिए आफ़त बन गई है. गर्भाशय निकालने का ऑपरेशन करने पर डॉक्टर को 10,000 रुपए मिलते हैं और इसी लालच में डॉक्टर ग़ैरज़रूरी ऑपरेशन कर रहे हैं. तस्वीरों में देखिए बिहार का 'गर्भाशय घोटाला'

  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    सबसे पहले समस्तीपुर में इस घोटाले का पर्दाफ़ाश हुआ. समस्तीपुर में अस्पतालों से भरी एक गली जहां मरीज़ों और गंदगी दोनों की कोई कमी नहीं है. (सभी तस्वीरें-पवन नारा)
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    समस्तीपुर में ही अस्पताल के सामने फेंका गया कचरा, जबकि मेडिकल कचरे के निपटारे के लिए अस्पतालों को खास व्यवस्था करनी होती है.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    समस्तीपुर ज़िले के सरायरंजन अंचल में लाटवासेपुर गाँव की सुनीता देवी (दाएं) और गीता देवी (बाएं) अपना गर्भाशय निकलवा चुकी हैं लेकिन इसके बाद भी तकलीफ़ ख़त्म नहीं हुई है. सुनीता तो ऑपरेशन के बाद मजदूरी भी नहीं कर पाती हैं.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    सरायरंजन अंचल में लाटवासेपुर गाँव की ही आशा देवी को बायीं ओर दर्द था. उनके पेट का ऑपरेशन बायीं ओर से कर दिया गया. आशा कहती हैं कि उनक दर्द अब भी बरकरार है.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    इस घोटाले की मार ग़रीबी रेखा के नीचे के लोगों पर पड़ी है. महिलाओं का गर्भाशय निकाले जाने से उनके शरीर पर तो असर पड़ता ही है वो मेहनत मजदूरी करने के लायक़ भी नहीं रहतीं.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    समस्तीपुर ज़िले के विद्यापतिनगर अंचल से जुड़े गढ़सिसई गाँव की सफ़ीना ख़ातून के गर्भाशय का ऑपरेशन किया गया, ज़िला प्रशासन द्वारा की गई जांच में पाया गया कि गर्भाशय अपनी जगह पर है. अब जांच की जा रही है कि कहीं ये फ़र्ज़ी ऑपरेशन तो नहीं था.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    गांवों में गर्भाशय निकलवाने के नुक़सान को लेकर जागरुकता भले ही ना हो लेकिन अस्पतालों के पोस्टर ज़रुर पहुंच गए हैं, इन पोस्टरों में साफ़ तौर पर लिखा है कि इस अस्पताल में गर्भाशय का ऑपरेशन होता है.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    गांव के झोलाछाप डॉक्टर इन अस्पतालों के ऐजेंट के तौर पर काम करते हैं. अगर कोई मरीज़ उनके बताए अस्पताल में पहुंचता है तो उन्हें इसके बदले में 500 रुपए मिलते हैं.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    इस मामले की रिपोर्टिंग के सिलसिले में बीबीसी की टीम जब नालंदा पहुंची तो भाकपा माले के कार्यकर्ता कोयला घोटाला मामले में ज़िला मजिस्ट्रेट कार्यालय का घेराव कर रहे थे. लेकिन इस घोटाले पर अभी तक कोई धरना प्रदर्शन नहीं हुआ है.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    नालंदा ज़िले के मेघी गांव की इस महिला का भी गर्भाशय निकाल दिया गया है, ये महिला बीबीसी को अपनी आपबीती सुना रही है.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    महिला के हाथ में रखा मोबाइल इस बात का गवाह है कि बिहार के गांवों तक तकनीक की तो पहुंच है लेकिन स्वास्थ्य सेवाएं अभी भी ग्रामीणों की पहुंच से काफ़ी दूर हैं.
  • बिहार गर्भाशय घोटाला
    नालंदा में एक निजी अस्पताल के बाहर अपनी बारी का इंतजार करती एक बच्ची.
  • बिहार बच्चेदानी घोटाला
    'गर्भाशय घोटाला ' कहे जा रहे इस मामले में आंकड़ों के मुताबिक दो वर्षों में राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पचास हज़ार ग़रीब महिलाओं के गर्भाशय निकाले जा चुके हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.