BBC navigation

कोयला खनन की ज़मीनी सच्चाई

 शनिवार, 8 सितंबर, 2012 को 18:22 IST तक के समाचार
  • कोयला घोटाला
    भारत में आजकल कोयला घोटाले को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. हाल ही में कैग ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि ग़लत तरीके से किए गए आबंटन में सरकार को 1 लाख 86 हज़ार करोड़ का नुकसान हुआ है.
  • कोयला घोटाला
    संसद में इस मुद्दे को लेकर गतिरोध बना हुआ है. प्रमुख विपक्षी दल भाजपा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से इस्तीफे की मांग कर रही है क्योंकि जिस समय ये कोल ब्लॉक आबंटित किए गए उस समय कोयला मंत्रालय प्रधानमंत्री के पास था. ये ग़ुस्सा सड़को पर भी दिखाई दिया जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का पुतला फूंका गया.
  • कोयला घोटाला
    भारत विश्व में सबसे बड़ा कोयला उत्पादक देश है. भारत में 246 अरब टन कोयले का भंडार है.
  • कोयला घोटाला
    कोयला भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण ईंधन हैं. सरकारी अधिकारियों के मुताबिक भारत की ऊर्जा ज़रुरतों का कुल 55 प्रतिशत कोयले से आता है.
  • कोयला घोटाला
    भारत में कोयले की खान मुख्यत:दक्षिण और मध्य पूर्व भारत में पाई जाती है. जैसे ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश.
  • कोयला घोटाला
    कैग रिपोर्ट में कहा गया हैं कि 2005 से 2009 के बीच कोयला खदाने बिना नीलामी कराए आबंटित की गई.
  • कोयला घोटाला
    कहा जा रहा हैं कि खान आबंटन में पारदर्शिता नहीं बरती गई और कोयले को बेचने से निजी कंपनियों को बड़ा फ़ायदा होगा.
  • कोयला घोटाला
    कांग्रेस की अगुवाई में चल रही संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल में आर्थिक घोटाले के सिलसिलों में कैंग द्वारा कोयला आबंटन मामले पर सवाल उठाया जाना सबसे ताज़ा मामला है. विपक्षी दल इस घोटाले को ‘कोलगेट’ का नाम दे रहे हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.