BBC navigation

कैमरे में क़ैद हुए अद्भुत नज़ारे!

 शनिवार, 1 सितंबर, 2012 को 15:45 IST तक के समाचार

कीटों की अंतरंग दुनिया

  • जैसन एडवर्ड्स ने पहली बार हम्पबैक ह्वेल के प्रजनन के बारे में विवरण दिया. घंटों संघर्ष के बाद सफल नर ह्वेल को मादा के साथ प्रजनन करने का मौका मिलता है.
  • डॉ. डेव आब्दो ने ग्रेट बैरियर रीफ के हेरोन द्वीप में लेथ्राइनस मिनिएटस की गति को अपने कैमरे में कैद किया.
  • हमारा सूर्य हर 11 साल के बाद अधिकतम सक्रिय अवस्था में होता है. उस समय इसकी रंगीन सतह काफी स्पष्ट होती है और धब्बे भी साफ दिखाई देते हैं. सूर्य की इस अवस्था को कैमरे में कैद किया पीटर वार्ड ने.
  • मैंटिस श्रिम्प ग्रेट बैरियर रीफ में पाए जाते हैं. समुद्री दुनिया में इनके पास अद्धुत दृष्टि तंत्र होता है.
  • पिंजड़े में बंद कीड़ा. कैटरपिलर प्रजाति का ये कीड़ा कांटेदार बालों से घिरा हुआ है जो कि इसके लिए सुरक्षा कवच का काम कर रहा है. प्रजनन के वक्त इन बालों को कैटरपिलर बांध देती है.
  • अरेबिडॉप्सिस का छह दिन पुराना अंकुरित होता बीज. इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोस्कोप से लिए गए इस चित्र में कृत्रिम रंग भरा गया है. अरेबिडॉप्सिस बीज को पौधों की वृद्धि के अध्ययन के लिए दुनिया भर में सबसे ज्यादा उगाया जाता है.
  • मेलबर्न के चिड़ियाघर में लॉर्ड होव आइलैंड स्टिक कीट के अंडे से बाहर निकलता हुआ कीट. ये एक कीटों की दुर्लभ प्रजाति है और इस अवस्था में इसकी ये पहली तस्वीर है. रोहन क्लीव ने इस क्षण के लिए हफ्तों इंतजार किया.
  • लंबे पैरों वाली ये डॉलिकोपोडिड मक्खी बाल्टिक अंबर में संरक्षित है. बाल्टिक अंबर करीब चार करोड़ वर्ष पुराना अंबर भंडार है. अंबर पेड़ का जीवाश्मीकृत रेजिन होता है और इसे कैमरे में कैद किया स्कॉट गिन ने.
  • ग्रीन लासीविंग. प्रकाश के परावर्तन और फैलाव ने संतुलन का मनोरम दृश्य पैदा कर दिया है.
  • बीटा एमाइलोड पेप्टाइड से बंधी तंत्रिका. ये पेप्टाइड अल्झाइमर रोग का प्रमुख कारक माना जाता है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.