बिजली के बिना जनजीवन अस्तव्यस्त

 मंगलवार, 31 जुलाई, 2012 को 17:49 IST तक के समाचार
  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन
    बिजली कटौती का असर रेल संचालन पर भी पड़ा. सुबह के वक्त जहां स्टेशन से बाहर आने वालों का तांता लगा रहता है, वहीं ट्रेनों की देरी से वीरानी छाई हुई थी
  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन
    नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के बाहर कुछ इस तरह नजारा था
  • मेट्रो स्टेशन
    नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन के बाहर भी वीरानी छाई थी, क्योंकि मेट्रो सेवा काफी देर तक बाधित थी जिससे लोगों को अंदर आने से रोक दिया गया
  • कोलकाता
    पूर्वी ग्रिड के फेल होने के कारण कई घंटे तक पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों, उड़ीसा, झारखंड और बिहार पर भी बुरा असर पड़ा. तस्वीर में अंधेरे में डूबी कोलकाता की एक इमारत.
  • कोलकाता
    बिजली गुल होने के बावजूद काम तो करना ही पड़ेगा ! मोमबत्ती की रोशनी में कोलकाता में दाढ़ी बनाता एक नाई.
  • ट्रैफिक
    मेट्रो सेवा बाधित होने से सड़कों पर जाम लग गया और ट्रैफिक धीमा हो गया
  • सड़क
    मेट्रो न चलने से लोग बसों और दूसरी सवारियों की तलाश में भटकते रहे
  • यात्री
    देश के दूसरे हिस्सों में भी रेल सेवा बाधित रही. इलाहाबाद के पास एक स्टेशन पर लोग कुछ इस तरह इंतजार करते रहे
  • कोलकाता
    ग्रिड फेल होने से रेल सेवाएं भी प्रभावित हुईं. तस्वीर में कोलकाता के बिजली बहाल होने के इंतज़ार में ट्रेन के आगे बैठा एक व्यक्ति.
  • मीडिया
    मीडिया वाले भी यात्रियों की परेशानियों को कवर करने के लिए भाग-दौड़ करते दिखे
  • विदेशी यात्री
    नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के बाहर इन विदेशी यात्रियों की समझ में कुछ नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है
  • रेल यात्री
    कई घंटों के इंतज़ार के बाद भी ट्रेनें नहीं पहुँच रही हैं
  • जनपथ मार्केट
    बिजली न आने से नई दिल्ली की जनपथ मार्केट के दुकानदारों को छोटे जनरेटर सेटों से काम चलाना पड़ा
  • कनॉट प्लेस
    सड़कों पर हर जगह जाम लगा था. दिल्ली के कनॉट प्लेस पर ट्रैफिक जाम की स्थिति

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.