BBC navigation

लंदन के बहुसांस्कृतिक रंग

 गुरुवार, 3 मई, 2012 को 03:01 IST तक के समाचार
  • लंदन
    लंदन में पाँच लाख से ज्यादा भारतीय मूल के लोग रहते हैं. एक फेस्टिवल में नाचती भारतीय नृतकियाँ.
  • लंदन
    उत्तर और पूर्वोत्तर लंदन में तुर्की से आए लोग काफी संख्या में रहते हैं. फल और सब्जी का बाजार पूरी रात खुला रहता है. ग्रीन लेन के कबाब रेस्तरां काफी मशहूर हैं. इस तस्वीर में तुर्की में शादी का पोर्टरेट नजर आ रहा है.
  • लंदन
    मुस्लिम समुदाय भी लंदन में अच्छी खासी संख्या में है. धार्मिक कारणों से लोग हलाल मीट ही खाते हैं.
  • लदंन
    लंदन में अफ्रीकी देशों से आए लोग भी बसे हुए हैं, खासकर नाइजीरिया और घाना से. नाइजीरिया के लोग यहाँ 200 साल पहले बतौर दास लाए गए थे. अपने देश से बाहर सबसे ज्यादा नाइजीरियाई लंदन में ही बसते हैं.
  • लंदन के बहुसांस्कृतिक रंग
    लंदन के बीचों बीच बसा चाइना टाउन तो पर्यटकों में काफी लोकप्रिय है. चीनी नए साल का उत्सव काफी धूम धाम से मनाया जाता है
  • लंदन के बहुसांस्कृतिक रंग
    दक्षिणी लंदन में ब्रिक्सटन का इलाका बहुसंस्कृतिवादी इलाका है. वेस्टइंडीज से आए लोग यहाँ काफी संख्या में हैं.
  • लंदन के बहुसांस्कृतिक रंग
    यहूदी समुदाय के लोग आमतौर पर उत्तरी लंदन में रहते हैं. ये तस्वीर शनिवार को ली गई है. इस दिन दुकानें बंद रहती हैं.
  • लंदन के बहुसांस्कृतिक रंग
    लंदन में बांग्लादेशी समुदाय सबसे तेजी से बढ़ता समुदाय है. पूर्वी लंदन में बहुत से बांग्लादेशी रेस्तरां जो काफी मशहूर हैं, खासकर ब्रिक लेन में.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.