BBC navigation

कुख्यात से प्रख्यात हुआ एक गांव

 सोमवार, 12 मार्च, 2012 को 15:29 IST तक के समाचार

कुख्यात से प्रख्यात हुआ एक गांव

  • सामुहिक विवाह

    गुजरात के 'वाडिया' गांव के ये लोग आजादी से पहले राजस्थान के राजे-रजवाड़ों में नाच-गाने का काम करते थे. आजादी के बाद रोजी-रोटी की दिक्कत होने पर इन्होंने वेश्यावृत्ति को रोजगार का जरिया बना लिया. ऐसे में एक गैर सरकारी संगठन ने सामुहिक विवाह के ज़रिए नवयुवतियों और बच्चियों को वेश्यावृत्ति के चंगुल से बचाने का काम शुरु किया है.

  • सामुहिक विवाह

    अहमदाबाद शहर से लगभग 200 किलोमीटर दूर बसे इस गांव में यौनकर्मियों के बच्चों का सामुहिक विवाह संपन्न कराया गया. गांववालों को शामिल कर चलाए गए जागरुकता अभियान के चलते युवक-युवतियों के अभिभावकों ही नहीं बल्कि कई लोगों ने विवाह समारोह में हिस्सा लिया.

  • सामुहिक विवाह

    पचास के दशक में सिर्फ तीन बहनों ने यहां वेश्यावृत्ति शुरू की थी और बढ़ते बढ़ते उनकी संख्या 129 हो गईं. नतीजतन ये गांव वेश्याओं का गांव कहलाने लगा. हालांकि अब यहां लोगों को जागरुक करने और महिलाओं को साक्षर बनाने की दिशा में काम शुरु किया गया है. ये सामुहिक विवाह भी उसी पहल की एक कड़ी हैं.

  • सामुहिक विवाह

    जिस घुमक्कड़ जनजाति की ये लड़कियां और महिलाएं हैं, उसमें ऐसा रिवाज है कि लड़की की सगाई या शादी हो जाने के बाद उनसे वेश्यावृत्ति नहीं कराई जाती. इन लड़कियों के लिए वाकई ये ज़िंदगी की एक नई शुरुआत है. इनमें से कई का मानना है कि वो अपनी बेटियों को इस जंजाल से हमेशा दूर रखेंगी.

  • सामुहिक विवाह

    वाडिया गांव में कुल 150 परिवार रहते हैं. यहां लड़की की उम्र 10-12 साल होते होते उसे वेश्यावृ्ति में धकेल दिया जाता है. वेश्यावृत्ति में जाने के बाद इन लड़कियों की कभी शादी भी नहीं होती थी. गैर सरकारी संगठन की ओर से जब इन परिवारों के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा गया तब कई परिवार सामाजिक बंदिशों को तोड़कर इस मुहिम का हिस्सा बने.

  • सामुहिक विवाह

    जिन लड़कियों की उम्र 18 साल से ज्यादा है, उनकी शादी कराई गई जबकि इससे कम उम्र की लड़कियों की सगाई कराई गई ताकि उन्हें वेश्यावृत्ति में धकेला न जाए. संगठन का दावा है कि इससे कम उम्र में बच्चियों को वेश्यावृत्ति में धकेलने की प्रवृत्ति पर रोक लगेगी. वाडिया गांव के लोग खुश हैं कि अब उनका गांव सकारात्मक कारणों से चर्चा में है.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.