हिम्मत का प्रतीक है स्वात की लड़की

 मंगलवार, 22 नवंबर, 2011 को 17:25 IST तक के समाचार

मीडिया प्लेयर

स्वात घाटी की निवासी मलाला ने तालिबान के दौरा में आवाज़ उठाई.

देखिएmp4

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

वैकल्पिक मीडिया प्लेयर में सुनें/देखें

पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत के ज़िले स्वात में आठवीं कक्षा की छात्रा मलाला यूसुफ़ज़ई को बच्चों के लिए अंतरराष्ट्रीय शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था और यह पुरस्कार दक्षिण अफ़रीक़ा की 17 वर्षीय लड़की ने जीत लिया.

यह पुरस्कार बच्चों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था हर साल एक लड़की को देती है. इस बार पाँच लड़कियों में से मलाला भी शामिल थी. स्वात से पत्रकार अनवर शाह की रिपोर्ट

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.