राष्ट्रपति पाटिल को गाँधी के पत्र

मीडिया प्लेयर

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

किसी और ऑडियो/वीडियो प्लेयर में चलाएँ

लंदन में आयोजित एक समारोह में भारतीय मूल के दो उद्योगपतियों सर ग़ुलाम नून और प्रोफ़ेसर रामनाथ पुरी ने महात्मा गांधी के हस्तलिखित पत्र राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को सौंपे.

उन्होंने ये पत्र जुलाई महीने में एक नीलामी में हासिल किए थे. सर नून और पुरी ने उर्दू और अँगरेज़ी में लिखी ये चिट्ठियाँ लगभग 21 हज़ार पाउंड यानी लगभग 17 लाख रुपए में ख़रीदी थीं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.