शेर-चीते के साथ 'नो सेल्फ़ी'

  • 22 अगस्त 2014
चीता

न्यूयॉर्क में लोग अब शेर-चीते जैसे बड़े और खूंखार जानवरों के साथ सेल्फ़ी खींचकर सोशल मीडिया पर शेख़ी नहीं बघार सकेंगे.

प्रांतीय सरकार ने एक बिल पास कर ऐसा करने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

पर्यावरण संबंधित एक क़ानून में संशोधन करने के लिए न्यूयॉर्क असेंबली की सदस्य लिंडा रोज़ेन्थाल ने बिल पेश किया जिसे सदन में मंजूर कर लिया गया.

अब शेर, चीते जैसे जानवरों को छूने और उनके साथ सेल्फ़ी खींचने पर पाँच सौ डॉलर का जुर्माना लगेगा.

पढ़ें न्यूयॉर्क से सलीम रिज़वी की रिपोर्ट

न्यूयॉर्क में एक नया क़ानून बनाकर शेर-चीते जैसे बड़े जानवरों को छूने और उनके साथ बिना किसी अवरोध के तस्वीर खिंचाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

असेंबली की सदस्य लिंडा रोज़ेन्थाल ने 'टाइगर सेल्फ़ी' नाम का यह बिल इसी साल असेंबली में पेश किया था.

प्रांतीय गवर्नर एंड्रयू कुओमो के हस्ताक्षर के बाद टाइगर सेल्फ़ी बिल अब क़ानून बन गया है.

लिंडा रोज़ेन्थाल ने कहा, “इस नए क़ानून से न सिर्फ़ आम लोगों को खूंखार जानवरों के हमलों से सुरक्षित किया जा सकेगा बल्कि जानवरों के शोषण पर भी रोक लगेगी.”

इस क़ानून के ज़रिए शहर-शहर घूमने वाले चिड़ियाघरों में खूंखार जानवरों को छूने और उनके साथ फोटो लेने पर भी रोक लगेगी.

हाल के वर्षों में इंटरनेट पर खूंखार जानवरों के साथ सेल्फ़ी पोस्ट करने का चलन शुरू हुआ है. लोग जंगली जानवरों के साथ या उन्हें छूते हुए तस्वीरें लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं.

शेर का बच्चा

जानवरों को ख़तरा

न्यूयॉर्क समेत अमरीका भर में मेलों, शॉपिंग मॉल और शहर-शहर घूमने वाले चिड़ियाघरों में ख़ास तौर पर आम लोगों को पैसे के बदले जंगली जानवरों को छूने और उनके साथ फोटो खिंचवाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

नए क़ानून के समर्थक कहते हैं कि ऐसा करने से आम लोगों की जान को खतरा हो सकता है और जानवरों को भी मुश्किल होती है. साथ ही सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने पर भी ख़र्च बढ़ जाता है.

न्यूयॉर्क में पिछले 15 वर्षों में खूंखार जानवरों को छूने के मामलों में सात लोग ज़ख्मी हुए हैं.

समर्थकों का यह भी कहना है कि इसके लिए जानवरों के बच्चों को छोटी उम्र से ही आम लोगों के बीच रहने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, उनके नाख़ून निकाल लिए जाते हैं और उन्हें यातनाएं भी सहनी पड़ती हैं. कई बच्चे तो इस दौरान मर भी जाते हैं.

नए क़ानून के तहत बड़े जंगली जानवरों को छूने या उनके साथ तस्वीर खींचने पर पहली बार पाँच सौ डॉलर और दूसरी बार ऐसा करने पर एक हज़ार डॉलर का जुर्माना लगेगा.

जानवरों की रक्षा के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने इस नए कानून का स्वागत किया है.

शेर

बिल्लियों के साथ फोटो खिंचाएं

बिग कैट रेस्कयू से जुड़ी कैरल बास्किन कहती हैं, “यह बहुत अच्छा क़ानून है और इस क़ानून को सभी राज्यों को अपनाना चाहिए. जो लोग जानवरों के साथ फोटो खींचना चाहते हैं वे शेर-चीतों के बजाए, बिल्लियों के साथ फोटो खिंचवाएं.”

लेकिन कुछ लोग इस नए क़ानून पर यह कहकर एतराज़ कर रहे हैं कि सिर्फ़ शेर-चीते जैसे जानवरों को छूने और उनके साथ सेल्फ़ी पर ही प्रतिबंध क्यों लगाया गया? जबकि भालू, रीछ आदि अन्य खूंखार जंगली जानवरों के बारे में ऐसा कोई प्रतिबंध नहीं है.

यह नया कानून न्यूयॉर्क में अगले साल फरवरी में लागू हो जाएगा.

अमरीका के कई राज्यों जैसे कैनसस, मिसिसिपी और एरीज़ोना में भी आम लोगों पर जंगली जानवरों को छूने के मामलों में कई तरह के प्रतिबंध लगाए जा चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)