शरीफ़ विरोधी प्रदर्शनकारी संसद पर डटे

  • 20 अगस्त 2014

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के इस्तीफ़े की मांग करते हुए राजधानी इस्लामाबाद में हज़ारों प्रदर्शनकारियों ने संसद की ओर मार्च निकाला है.

प्रदर्शनकारियों ने उन अवरोधकों को तोड़ दिया जिन्हें पुलिस ने खड़ा किया था और वे कड़ी सुरक्षा वाले रेड ज़ोन में दाख़िल हो गए. यहां बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है.

ये प्रदर्शनकारी इमरान ख़ान की तहरीक-ए-इंसाफ़ पार्टी और अवामी पार्टी के नेता ताहिर–उल क़ादरी के समर्थक हैं.

पहले इमरान ख़ान ने राजधानी के अति विशिष्ट इलाके यानी रेड ज़ोन की तरफ बढ़ना शुरु किया लेकिन बाद में ताहिर उल क़ादरी के समर्थकों ने भी इस मार्च में शामिल होने का फैसला किया.

इससे पहले इमरान ख़ान ने प्रदर्शनस्थल से इस्लामाबाद के रेड ज़ोन इलाक़े (प्रतिबंधित क्षेत्र) में कूच करने का ऐलान किया था.

दोनों ही नेता प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं.

राजधानी के रेड ज़ोन इलाके में सरकार के दफ्तर हैं, साथ ही विदेशों के दूतावास भी हैं. समर्थकों ने रेड ज़ोन में प्रवेश करने के लिए पुलिस की नाकेबंदी को तोड़ दिया.

पाकिस्तान प्रदर्शन

समर्थकों के साथ एक क्रेन भी है. इस क्रेन की मदद से रास्ते में आने वाली बाधाओं को हटाया गया है. इसके अलावा कार्यकर्ताओं के हाथों में पानी की बोतलें थीं और कई ने आंसू गैस से बचने के लिए मास्क पहन रखे थे.

पुलिस के जवान सड़क के एक ओर खड़े हैं. लेकिन अभी तक प्रतिभागी पुलिस से सामना नहीं हुआ है.

क़ादरी का मार्च इमरान ख़ान के मार्च के पीछे है. तहरीक-ए-इंसाफ़ के मार्च में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं.

पाकिस्तान के सूचना मंत्री परवेज रशीद ने निजी टेलीविजन चैनल जियो से बात करते हुए कहा है कि सरकार धैर्य और सहनशीलता से काम लेगी. उन्होंने कहा कि सरकार बल प्रयोग नहीं करेगी.

इस्लामाबाद के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के प्रवक्ता डॉक्टर वसीम के मुताबिक जिला प्रशासन के निर्देश पर अस्पताल में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार