इराक़: हज़ारों ईसाई शहर छोड़कर भागे

  • 7 अगस्त 2014

उत्तरी इराक़ में इस्लामी चरमपंथियों के क़ाराक़ोश शहर पर क़ब्ज़े की ख़बर है. यह इस इलाक़े में सबसे बड़ा ईसाई शहर है.

क़ाराकोश मोसुल से 30 किलोमीटर दक्षिणपूर्व में हैं और यहाँ क़रीब पचास हज़ार ईसाई रहते हैं.

ईसाई नेताओं ने कहा है कि इस्लामिक स्टेट ग्रुप के चरमपंथियों (पूर्व में आईएसआईएस) ने क़ुर्द पशमर्गा सैनिकों से शहर पर क़ब्ज़ा छीन लिया है.

नज़दीकी ईसाई शहरों तेल एस्कॉफ़ और क़रमलेस से भी क़ुर्द पशमर्गा लड़ाके पीछे हट गए हैं. सुन्नी जिहादियों के कई और शहरों-क़स्बों पर भी क़ब्ज़े की ख़बरें हैं.

इराक़ के उत्तरी इलाक़ों में क़ुर्द पशमर्गा लड़ाके कई हफ़्तों से आईएस से लड़ रहे हैं.

इराक़ी ईसाई

एक स्थानीय आर्कबिशप ने फ़्रांसीसी समाचार एजेंसी को बताया कि हज़ारों लोग ख़ौफ़ में घर छोड़कर भाग रहे हैं.

इराक़ में दुनिया के सबसे पुराने ईसाई समुदाय रहते हैं. 2003 में इराक़ पर अमरीकी हमले के बाद से यहाँ सांप्रदायिक हिंसा में बढ़ोत्तरी हुई है जिसकी वजह से ईसाइयों की संख्या कम हुई है.

सुन्नी चरमपंथियों ने इस्लामी ख़िलाफ़त स्थापित करने के लिए इराक़ और सीरिया के बड़े इलाक़ों पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार