मलेशियाई विमान 'मिसाइल हमले का शिकार'

  • 18 जुलाई 2014
मलेशियाई विमान दुर्घटनाग्रस्त

मलेशिया एयरलाइंस के एक विमान के पूर्वी यूक्रेन में दुर्घटनाग्रस्त होने से लगभग 300 लोगों की मौत हो गई है. ये जगह रूस की सीमा से लगी है.

फ़्लाइट एमएच17 एम्सटर्डम से कुआलालम्पुर जा रही थी. जब विमान का रडार से संपर्क टूटा उस समय वह विमान इस युद्धग्रस्त इलाक़े से गुज़र रहा था.

विमान में 280 यात्री और 15 चालक दल के सदस्य थे.

लाइव: पढ़िए हादसे के बाद का ताज़ा घटनाक्रम

क्या हुआ?

मलेशिया एयरलाइंस के मुताबिक़ विमान एम्सटर्डम के शिफोल हवाई अड्डे से ग्रीनिच मान समय के मुताबिक़ गुरुवार 17 जुलाई को सुबह सवा दस बजे उड़ा. उसके चार घंटे बाद विमान का संपर्क टूट गया. इसे कुआलालम्पुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जीएमटी के मुताबिक़ रात 10 बजकर 10 मिनट पर पहुँचना था.

देखिए दुर्घटना के बाद की पहली तस्वीरें

जिस समय विमान से संपर्क टूटा उस समय वह रूसी हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने वाला था.

मलेशियाई विमान दुर्घटनाग्रस्त

उस क्षेत्र में यूक्रेन सरकार और रूस समर्थक विद्रोहियों के बीच सशस्त्र संघर्ष चल रहा है. मगर दोनों ने ही विमान को निशाना बनाने से इनकार किया है.

किसने निशाना बनाया?

यूक्रेन के गृह मंत्री के एक सलाहकार एंटॉन हेराशचेंको ने आरोप लगाया है कि विमान को जिस मिसाइल ने निशाना बनाया वह बक लॉन्चर से छोड़ा गया था. ये लॉन्चर रूस में बनता है जो कि ज़मीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली का हिस्सा है.

यूक्रेन का आरोप है कि रूसी सेना विद्रोहियों को आधुनिक मिसाइल मुहैया करा रही है.

मगर अलगाववादी नेता अलेक्ज़ेंडर बोरोडाइ ने यूक्रेन सरकार पर आरोप लगाया है कि उसने विमान को निशाना बनाया.

मलेशियाई एयरलाइंस का विमान

उन्होंने रूस के सरकारी टीवी चैनल रोसिया 24 को बताया, "ये एक यात्री विमान था, जिसे यूक्रेन की वायु सेना ने मार गिराया."

कैसा विमान था ये?

दुर्घटनाग्रस्त हुआ विमान बोइंग 777-200ईआर विमान था. कुआलालम्पुर से बीजिंग जाते समय मार्च में जो एमएच 370 विमान लापता हो गया था ये विमान भी उसी मॉडल का था.

यूक्रेन जिस बक लॉन्चर की बात कर रहा है, देखिए उसके बारे में क्या है जानकारी-

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)