पाक: तालिबान कमांडर समेत 18 चरमपंथियों की मौत

  • 28 जून 2014
पाकिस्तान में सेना का अभियान

पाकिस्तानी अधिकारियों ने बताया है कि संदिग्ध चरमपंथियों की मजबूत पकड़ वाले देश के पश्चिमोत्तर हिस्सों में सेना के जेट विमानों से हवाई हमले किए गए हैं.

समाचार एजेंसी एएफ़पी ने सेना के हवाले से बताया है कि तालिबान के ख़िलाफ़ जारी कार्रवाई के तहत ये हमले शनिवार को किए गए, जिसमें 18 चरमपंथियों की मौत हुई है.

एएफपी के मुताबिक पाकिस्तानी एयर फोर्स (पीएएफ) के विमानों ने मिराली कस्बे को शुक्रवार को घेर लिया, जबकि टैंकों ने मीरनशाह के बाहर जंगलों में छिपे चरमपंथियों को निशाना बनाया.

मिराली और मीरनशाह उत्तरी वजीरिस्तान के दो प्रमुख कस्बे हैं, जहां से लगभग पांच लाख आम नागरिक पलायन कर चुके हैं.

पलायन

सेना ने एक बयान जारी कर कहा है, "पीएएफ के जेट विमानों ने आतंकवादियों के छह ठिकानों को नष्ट किया है, जिसमें 11 आतंकवादी मारे गए."

बयान में बताया गया, "मीरनशाह के बाहरी हिस्सों में शनिवार की सुबह आतंकवादियों के जमावड़े पर तोपखाने, टैंकों और भारी हथियारों से हमला किया गया, जिसमें सात आतंकवादियों की मौत हुई."

बयान में कहा गया है कि इस कार्रवाई के दौरान तहरीक-ए तालिबान पाकिस्तान के एक कमांडर मारे गए, जबकि भागने की कोशिश कर रहे अल-कायदा के एक प्रमुख कमांडर को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

इस बीच उत्तरी वज़ीरिस्तान से करीब पांच लाख लोग पलायन कर चुके हैं. इनमें से हज़ारों लोगों ने क़रीब के कस्बे बन्नू में शरण ली है जबकि बड़ी संख्या में लोग लक्की मरवत और डेरा इस्माइल खान में विस्थापित जीवन जी रहे हैं.

करीब दो सप्ताह पहले शुरू हुए इस अभियान में पाकिस्तानी सेना ने फाइटर जेट, टैंकों और तोपों का इस्तेमाल किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)