BBC navigation

पाकिस्तान: हवाई हमलों में 80 चरमपंथी मरे

 रविवार, 15 जून, 2014 को 17:27 IST तक के समाचार
उत्तरी वज़ीरिस्तान

पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने चरमपंथियों के ठिकानों पर हवाई हमले किए हैं. देश के उत्तरी-पश्चिमी क्षेत्र के अधिकारियों का कहना है कि इन हमलों में कराची हवाई अड्डे पर हुए हमले के मास्टरमाइंड समेत कम के कम 80 चरमपंथी मारे गए हैं.

हालांकि मौत के इन आँकड़ों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो पाई है.

ये हमले उत्तरी वज़ीरिस्तान के क़बायली ज़िले में देहगान पहाड़ी क्षेत्र में हुए. इस इलाक़े को तालिबान और अल-क़ायदा से जुड़े चरमपंथियों का गढ़ माना जाता है.

पिछले रविवार को कराची हवाई अड्डे पर हुए हमले में उज़बेकिस्तान के लड़ाकुओं के शामिल होने की ख़बरों के बीच उज़्बेक चरमपंथियों को निशाना बनाया गया.

हवाई हमले, वज़ीरिस्तान

एक अधिकारी ने कहा, "ये हमले इस क्षेत्र में उज़्बेक और अन्य चरमपंथियों की मौजूदगी की पुष्ट रिपोर्टों के आधार पर हुए हैं."

कराची हवाई अड्डे पर हमला कराने के पाकिस्तानी तालिबान के दावे के बाद इस क्षेत्र में एक हफ़्ते के भीतर यह दूसरा सैन्य हमला है.

तालिबान ने कराची हवाई अड्डे पर हमले को अपने नेता हकीमुल्लाह महसूद की मौत का बदला बताया था.

संवाददाताओं का कहना है कि हाल में हुई हिंसक घटनाओं की वजह से पाकिस्तानी तालिबान और सरकार के संभावित शांति प्रक्रिया रुक गई है .

वज़ीरिस्तान

पाकिस्तान एक दशक से अधिक समय से पाकिस्तानी तालिबान और अन्य चरमपंथी समूहों के साथ इस्लामी उग्रवाद से जूझ रहा है.

पाकिस्तान सरकार ने मार्च में पाकिस्तानी तालिबान के साथ शांति वार्ता शुरू की लेकिन यह ज़्यादा आगे नहीं बढ़ सकी और पाकिस्तान में हिंसा लगातार ज़ारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.