लापता विमानः चरमपंथ, अपहरण या ख़ुदकुशी?

  • 18 मार्च 2014
मलेशिया एयरलाइंस का लापता विमान

भारत में होली की वजह से ज़्यादातर हिंदी और अंग्रेज़ी अख़बारों ने अपने संस्करण नहीं छापे हैं लेकिन दक्षिणपूर्व एशिया के अख़बारों पर नज़र डालें तो कई समाचार पत्रों ने मलेशियाई विमान के लापता होने को लेकर कई अहम ख़बरों को सुर्ख़ी बनाया है.

मलेशिया के अख़बार द स्टार ने पहले पन्ने पर एक ख़बर लगाई है जिसका हैडिंग है – टैरर ऑर स्युसाइड. ख़बर बताती है कि लापता विमान को लेकर चरमपंथ और अपहरण से लेकर ख़ुदकुशी तक सभी आशंकाओं पर विचार किया जा रहा है.

ख़बर कहती है कि मलेशिया और चीन दोनों इसमें चरमपंथ की संभावनाओं का पता लगाने में जुटे हैं. विमान सवार हर यात्री की पृष्ठभूमि का पता लगाने की ज़िम्मेदारी पुलिस को सौंपी गई है.

इसी के साथ बताया गया है कि चोरी के पासपोर्टों पर यात्रा कर रहे ईरानी यात्रियों के बारे में जांच भी सार्वजनिक की जाएगी.

ख़ुदकुशी

मलेशिया के कार्यवाहक परिवहन मंत्री

ऑस्ट्रेलिया का अख़बार संडे मॉर्निंग हेराल्ड लिखता है कि क्या पायलट ने विमान में ख़ुदकुशी की थी?

इसी अख़बार ने दूसरी ख़बर में सवाल उठाया है कि जब अमरीका में 9/11 की घटना हुई थी तो लोगों ने अपने दोस्तों, रिश्तेदारों को मोबाइल से फ़ोन किए थे और विमान के इमारत से टकराने की जानकारी दी थी.

मगर जब विमान ने गल्फ़ ऑफ़ थाईलैंड से यू टर्न लिया तब भी विमान के यात्रियों ने ऐसा क्यों नहीं किया और न ही किसी सोशल नेटवर्क पर कोई सूचना पोस्ट की गई.

इसी मुद्दे पर मलेशिया की राष्ट्रीय न्यूज़ एजेंसी बरनामा न्यूज़ ने परिवहन मंत्री दातुक सेरी हिशामुद्दीन के बयान के हवाले से कहा है कि अभी भी विमान के मिलने की उम्मीद है क्योंकि अभी तक किसी आपात संदेश, किसी संगठन की तरफ़ से फ़िरौती या मांग जैसी किसी चीज़ का पता नहीं चला है.

खोजबीन

अमरीकी विध्वंसक यूएसएस किड

उधर, चीन के अख़बार चायना डेली ने प्रधानमंत्री ली कचियांग का बयान प्रकाशित किया है, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि जब तक उम्मीद है कि विमान को खोजने की पूरी कोशिश की जाएगी.

ली के मुताबिक़ चीन ने 21 उपग्रहों को भी इस खोज अभियान में लगाया है. इसके साथ ही समुद्र में चीन ने 10 जहाज़ और कई विमान खोजबीन में जुटे हैं.

जापान के अख़बार जापान टाइम्स ने मलेशियाई विमान को लेकर लिखा है कि लापता विमान की खोज का दायरा उत्तर से दक्षिणी ध्रुव तक फैल गया है.

मलेशिया के अनुरोध पर ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिणी हिंद महासागर से कज़ाकिस्तान तक छानबीन की कमान संभाल ली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)