दुबईः 'तनख़्वाह के आधार पर हो कार रखने का अधिकार'

  • 18 फरवरी 2014
दुबई कार

दुबई में एक वरिष्ठ स्थानीय अधिकारी ने प्रस्ताव दिया है कि दुबई में कार रखने का अधिकार मासिक वेतन और परिवार के आकार के हिसाब से तय होना चाहिए.

दुबई म्युनिसिपैलिटी के महानिदेशक हुसैन नासेर लूटाह का कहना है कि अमीरात की सड़कों पर बहुत ज़्यादा कारें हैं और शहर की बहुत सारी ट्रैफ़िक समस्याओं की जड़ यही है कि लोग अपने काम पर कारों से जाते हैं.

उन्होंने यूएई के एक अख़बार दि नेशनल से कहा, "यहां गाड़ी खरीदना आसान है और इसलिए एक परिवार के पास एक से ज़्यादा कारें हैं."

उन्होंने सलाह दी कि कार बीमा और पेड पार्किंग को महंगा किया जाए.

'रोमांचक मौका'

दुबई 19 फ़रवरी को कार-मुक्त दिन मना रहा है.

दुबई सार्वजनिक परिवहन

गल्फ़ न्यूज़ के अनुसार इस अभियान का मकसद लोगों को ऑफ़िस जाने के लिए सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करना है.

ख़लीज़ टाइम्स के अनुसार लोगों के पास इस कार-फ़्री दिवस में भाग लेकर एक साइकिल जीतने का "रोमांचक" मौका है.

लूटाह को उम्मीद है कि बुधवार को करीब 7,000 लोग अपनी गाड़ियां घरों पर छोड़कर बाहर निकलेंगे.

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की खबरें ट्विटर और फ़ेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं. बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार