चीनः देह व्यापार पर सरकार सख़्त

  • 17 फरवरी 2014
china

चीन के सरकारी चैनल पर डोंगुआन क़स्बे में भूमिगत रूप से जारी देह व्यापार रैकेट का भंडाफोड़ किया गया है. ख़बर चलने के बाद 'सिन सिटी' कहे जाने वाले इस क़स्बे के पुलिस प्रमुख को उनके पद से हटा दिया गया और देश भर में वेश्यावृत्ति के ख़िलाफ़ अभियान चलाने का सरकार ने निर्देश जारी कर दिया.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने गुआनडांग प्रांत के कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के हवाले से बताया कि डोंगुआन के उप-मेयर यान शियोकांग को भी काम में लापरवाही के कारण हटा दिया गया है.

अधिकारियों ने एजेंसी को बताया, "यान की लापरवाही के कारण डोंगुआन में देह व्यापार तेज़ी से फैला, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शहर की बदनामी हुई है."

इस सिलसिले में सात अन्य अधिकारियों को भी हटा दिया गया.

देह व्यापार का केंद्र

चीन में देह व्यापार ग़ैर क़ानूनी है, इसके बावजूद देश भर में ये बड़े पैमाने पर होता है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ हज़ारों पुलिस कर्मियों के स्टिंग ऑपरेशन के बाद डोंगुआन में एक हज़ार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया. यह जगह हॉन्गकॉन्ग से बहुत ज़्यादा दूर नहीं है और इसे देह व्यापार के प्रमुख केंद्र के तौर पर जाना जाता है.

चीन के सरकारी टीवी चैनल के मुताबिक़ डोंगुआन क्षेत्र के पाँच शहरों में व्यापक स्तर पर खु्लेआम वेश्यावृत्ति की बात सामने आई थी.

चीन, डोंगुआन में वेश्यावृत्ति के संदिग्ध लोगों को ले जाती पुलिस

इस प्रसारण को पूरे चीन में व्यापक स्तर पर देखा गया और सोशल मीडिया पर लोगों ने देह व्यापार को चलाने वाले लोगों की बजाय सेक्स वर्कर्स को निशाना बनाने के लिए सरकार की आलोचना की.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार, पिछले सप्ताह चाइना सेंट्रल टीवी पर प्रसारित आधे घंटे की रिपोर्ट के बाद चीन की 'सेक्स कैपिटल' कहे जाने वाले 'डोंगुआन' में बड़े स्तर पर पुलिस ऑपरेशन चलाया गया.

इस ऑपरेशन के लिए छह हज़ार से ज़्यादा पुलिस अधिकारियों ने सैकड़ों होटलों और पार्लरों पर छापेमारी के बाद 67 लोगों को गिरफ़्तार किया.

इस सिलसिले में इस तरह की 12 जगहों को बंद किया गया और दो पुलिस अधिकारियों को बर्खास्त किया गया.

एक अनुमान के मुताबिक़ चीन में हर दस में से एक प्रवासी मज़दूर वेश्यावृत्ति में शामिल है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार