BBC navigation

गर्लफ़ेंड से रिश्ता टूटने की चिढ़ कुछ यूँ निकली

 शुक्रवार, 14 फ़रवरी, 2014 को 00:41 IST तक के समाचार
चीन में वैलेंटाइन डे (फ़ाइल फ़ोटो)

चीन में वैलेंटाइन्स डे के दिन सिनेमा घर में एक दूसरे के हाथों में हाथ डाले फ़िल्म देखने का सपना सँजो रहे कुछ प्रेमी युगल के रंग में भंग पड़ गया है. इसके पीछे है अकेले जीवन बिता रहा एक व्यक्ति.

इस बेनाम व्यक्ति ने शंघाई में एक सिनेमा घर में ऑड नंबर यानी विषम संख्या वाली सीटों के टिकट ख़रीदना शुरू कर दिया. मक़सद ये था कि प्रेमी युगल एक साथ बैठकर फ़िल्म न देख पाएँ.

बीजिंग लव स्टोरी नाम की फ़िल्म उस सिनेमा घर में लगी है. अब उस व्यक्ति के साथ क्लिक करें अन्य अकेले व्यक्ति भी जुड़ गए हैं. नतीजा ये है कि उस सिनेमा घर में अब एक साथ की कोई भी दो सीटें उपलब्ध नहीं हैं.

जिस व्यक्ति ने ये अभियान शुरू किया है उसने कहा है कि ये सब महज़ एक मज़ाक था और उम्मीद जताई कि प्रेमी जोड़े इसे समझेंगे.

ये अभियान शंघाई के शिनतिआनदी इलाक़े में स्थित एक सिनेमा घर में चलाया गया. ये शहर के पुराने इलाक़े में स्थित है जहाँ काफ़ी दुकानें, रेस्तराँ और शराब घर हैं.

ये काम किया एक ऐसे शख़्स ने जिसका पिछले साल अपनी क्लिक करें गर्लफ़्रेंड से रिश्ता टूट गया. इसके बाद उसने सभी जोड़ों से बदला लेने की सोची और बीजिंग लव स्टोरी फ़िल्म के मुख्य शो में विषम संख्या वाली सीटों के टिकट ख़रीद लिए.

उन्होंने ऐसी सीटों के टिकट ख़रीदना शुरू किया तो और लोगों ने भी उनकी देखादेखी ऐसा करना शुरू कर दिया.

इसके बाद कई चीनी अख़बारों ने ये ख़बर छापी. उनमें उस सिनेमा घर की सीटों का एक ग्राफ़ भी दिखाया गया है. उसमें दिखता है कि अब आस-पास की दो सीटों के टिकट एक साथ नहीं लिए जा सकते.

ये अभियान शुरू करने वाले व्यक्ति ने उम्मीद जताई है कि सिनेमा घर में क्लिक करें वैलेंटाइन्स डे का शो देखने जा रहे लोग अपने बगल में किसी अनजान व्यक्ति को पाएँगे और ऐसे में नए रिश्ते भी बन सकते हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड क्लिक करें मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.