..और यूं चुराया गया खास ट्विटर यूज़रनेम

  • 6 फरवरी 2014
ट्विटर

एक खास ट्विटर यूजरनाम @N के मालिक का दावा है कि एक हैकर ने इसे उनसे चुरा लिया.

कैलिफोर्निया के सॉफ्टवेयर डेवलपर नेओकी हिरोशिमा ट्विटर पर यूजरनेम @N का इस्तेमाल वर्ष 2007 से कर रहे थे.

एक ब्लॉग पोस्ट में उन्होंने कहा कि पहले तो उन्हें इसे बेचने के लिए 50,000 डॉलर की पेशकश की गई लेकिन फिर उससे पहले ही इसे ''चुरा'' लिया गया.

उनका कहना है कि जब तक वह इसे देने को राजी होते तब तक किसी ने मेरे दूसरे ऑनलाइन अकाउंट्स पर भी नियंत्रण कर लिया.

मिस्टर हिरोशिमा कहते हैं कि एक हैकर को उनके गोडैडी अकाउंट तक पहुंचने का जरिया मिल गया. गोडैडी एक डोमैन रजिस्ट्रेशन सर्विस है. इस खाते तक पहुंचने के लिए हैकर ने अकाउंट सेटिंग बदली और फिर व्यक्तिगत ई-मेल तक पहुंच पा ली.

इसके बाद ई-मेल पर हैकर ने हिरोशिमा से कहा, उसने उनके क्रेडिट कार्ड के आखिरी चार डिजिट्स की जानकारी पाने के बाद गोडैडी अकाउंट तक पहुंच पाई.

हैकिंग

उसने बताया कि वह ऐसा पेपाल से संपर्क करके कर सका, जहां मिस्टर हिरोशिमा का अकाउंट है और उन्हें एक कर्मचारी के रूप में दिखाया गया है. हैकर ने कहा कि '' उसने क्रेडिट कार्ड के आखिरी चार डिजिट हासिल करने के लिए इंजीनियरिंग के कुछ आसान तरीके इस्तेमाल किए.''

सोशल इंजीनियरिंग

एक बयान में पेपाल ने मना किया है कि उसने मिस्टर हिरोशिमा के विवरण किसी को दिए हैं.

पेपाल से संपर्क करने पर कहा गया, ''हमने बहुत सावधानी से अपने रिकॉर्डों की समीक्षा की और ये कह सकते हैं कि उनके यहां से ग्राहक की सूचना पाने का असफल प्रयास किया गया था. पेपाल ने इस तरह का कोई क्रेडिट कार्ड विवरण किसी को नहीं दिया है.''

गोडैडी ने न्यूज़ वेबसाइट टेकक्रंच में एक बयान में कहा,'' उसके एक कर्मचारी ने 'सोशल इंजीनियरिंग' से मिस्टर हिरोशिमा के विवरण हैकर को उपलब्ध कराए.''

सोशल इंजीनियरिंग किसी से छल के जरिए कुछ करने का ऐसा तरीका है, जो नहीं करना चाहिए-खासकर गोपनीय सूचनाएं देने के मामले में.

अपने बयान में गोडैडी ने कहा, ''सारे हालात पर हमारी समीक्षा बताती है कि जिस समय हैकर ने गोडैडी से संपर्क किया, उस समय उसके पास अकाउंट तक पहुंच बनाने के लिए ग्राहक से संबंधित खासी जानकारियां पहले से थीं.''

''इसके बाद हैकर ने एक कर्मचारी से सोशल इंजीनियरिंग का सहारा लिया ताकि ग्राहक के अकाउंट तक पहुंच पाने के लिए अन्य जानकारियां मिल जाएं.''

नहीं बदला जाने वाला हादसा

हैकर द्वारा सूचित किए जाने के बाद कि वह हिरोशिमा के डाटा और वेबसाइट्स के साथ साझा करने को तैयार है, हिरोशिमा ने अपने इस ट्विटर अकाउंट को छोड़ दिया.

वह लिखते हैं, '' मुझे याद आता है कि @mat के साथ क्या हुआ था (हैकर ने हमले के एक घंटे बाद ही मैट डोमन की डिजिटल मौजूदगी खत्म कर दी थी) और ज्यादा बेहतर था कि किसी नहीं बदले जा सकने वाले हादसे से बचाव के लिए खाते को ही छोड़ दिया जाए.''

मिस्टर हिरोशिमा कहते हैं, '' मैंने वर्ष 2007 के शुरू में ट्विटर रजिस्ट्रेशन के बाद पहली बार अपना यूजरनाम @N से बदलकर @N_is_stolen कर लिया.''

हैकर ने @N यूजरनेम पर नियंत्रण कर लिया और हिरोशिमा ने गोडैडी अकाउंट तक अपनी पहुंच को लौटा दिया.

उन्होंने कहा, '' मेरा गोडैडी अकाउंट बहाल होने के बाद मैं अपनी ईमेल तक फिर पहुंच बना सकता था लेकिन मैने कई वेब सर्विस पर इस्तेमाल किया जाने वाला अपना ईमेल पता बदल दिया.''

हिरोशिमा कहते हैं कि ऐसा किसी और के साथ नहीं हो इसलिए वह सलाह देना चाहते हैं कि कंपनियों को अपने क्रेडिट कार्ड से संबंधित सूचनाएं नहीं रखने दें. कंपनियों को भी चाहिए कि वेरीफिकेशन का ये तरीका बंद करें.

इस सवाल पर कि ट्विटर ने मिस्टर हिरोशिमा की @N अकाउंट पर पहुंच बहाल क्यों नहीं की, एक प्रवक्ता ने कहा, ''हालांकि हम किसी व्यक्तिगत खाते पर टिप्पणी नहीं करते लेकिन संबंधित रिपोर्ट की जांच कर रहे हैं.''

हालिया घटनाक्रम में मिस्टर हिरोशिमा ने अपने नए ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया कि ऐसा लगता है कि हैकर ने उनका पुराना अकाउंट डिलीट कर दिया है.

''ऐसा लगता है कि उस शख्स ने, जिसने मुझसे @N अकाउंट चुराया था, ने उसे डिलीट कर दिया है, ये उपलब्ध है लेकिन इसे लिया नहीं जा सकता.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार