BBC navigation

'बंद करो मेरी अर्धनग्न तस्वीरों को ढूंढना'

 शुक्रवार, 18 अक्तूबर, 2013 को 12:47 IST तक के समाचार
ग्लोरिया दि पीयरो

ग्लोरिया दि पीयरो का कहना है कि उनकी अर्धनग्न तस्वीरों की खोज बंद होनी चाहिए.

ब्रिटेन में लेबर पार्टी की एक सांसद ग्लोरिया दि पीयरो ने एक समाचार एजेंसी पर उनकी 15 वर्ष की उम्र में खिंचवाई गई अर्धनग्न तस्वीरों को हासिल करने की कोशिश करने का आरोप लगाया है.

एक ब्लॉग पोस्ट में लेबर पार्टी की सांसद ने कहा कि एक राष्ट्रीय अख़बार के लिए काम करने का दावा करने वाली समाचार एजेंसी उन तस्वीरों की कॉपी रखने वाले लोगों को हज़ारों पौंड का प्रस्ताव दे रही है.

ग्लोरिया ने बीबीसी को कहा, अगर वो तस्वीरें छप गईं तो यह उनके लिए "अपमानजनक" होगा.

उन्होंने कहा कि उनका बचपन गरीबी में बीता है और उन्होंने पैसे के लिए अर्धनग्न तस्वीर खिंचवाई थी.

सबके लिए राजनीति

बीबीसी रेडियो 4 के वूमन्स आवर कार्यक्रम में कहा, "ये मेरा हिस्सा है, ये मेरी ज़िंदगी का हिस्सा है, ये मेरी कहानी का हिस्सा है."

"मेरे मां-बाप बहुत अच्छे थे लेकिन जब मेरी उम्र 10 साल थी, उसके बाद पिता की बीमारी की वजह से कोई भी काम नहीं कर पाया."

"मेरे मां-पिता नौकरी करते थे, हालांकि उनका करियर अच्छा नहीं था, लेकिन वह बहुत- बहुत ज़्यादा चाहते थे कि उनकी बेटी की ज़िंदगी उनसे बेहतर हो."

एशफ़ील्ड से सांसद ग्लोरिया ने कहा कि उन दिनों वो स्कूल से ग़ैरहाज़िर रहती थीं क्योंकि उन्हें अपने कपड़ों पर शर्म आती थी.

अर्धनग्न तस्वीर खिंचवाने के फ़ैसले पर उन्होंने कहा, "मैं चाहती थी कि मेरे दोस्तों की तरह मेरे पास भी कुछ पैसे हों."

ग्लोरिया दि पीयरो

सात अक्तूबर, 2013 की इस तस्वीर में ग्लोरिया शेडो मिनिस्ट्री की घोषणा के बाद, अपने साथियों के साथ दिख रही हैं.

"मेरे पास यह सोचने के लिए वजहें थीं कि उनके ज़रिये में मुश्किल वक्त से बाहर निकल सकती हैं, लेकिन में ससम्मान ये कहना चाहती हूं कि मुझे उम्मीद है कि वो कभी छपी नहीं."

उन्होंने कहा "यहां मैं पीड़ित नहीं बनूंगी."

ग्लोरिया कहती हैं कि वह नहीं चाहतीं कि राजनीति में ऐसे लोगों की भरमार हो "जो 15 साल की उम्र में सोचते हों, 'आह, शायद किसी दिन मैं राजनेता बन जाऊं'".

"अगर किसी ने 15 साल की उम्र में मुझे यह बताया होता तो मैं कहती कि वह बिल्कुल बकवास कर रहा है."

अपने ब्लॉग में उन्होंने इसे विस्तार से बताया है, "मुझे नहीं लगता कि राजनीति में सिर्फ़ उन लोगों के लिए जगह होनी चाहिए जो अपने राजनीतिक भविष्य की योजना किशोरवय में ही बना रहे होते हैं. मैं राजनीति को अपने देश के लिए प्रतिनिधित्व करने वाली चाहती हूं, जिसमें जीवन के हर क्षेत्र से महिलाएं आएं. यह वो चीज़ है जिसमें मैं बहुत शिद्दत से काम करना चाहती हूं."

"किसी को भी ऐसी चीज़ की चिंता नहीं करनी चाहिए जो उन्होंने तब की थी जब वो युवा थे. ऐसी कोई चीज़ उन्हें अपने समाज की सेवा करने, स्थानीय या राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय होने से नहीं रोक सकती."

ग्लोरिया कहती हैं, "अब वक्त आ गया है कि उन तस्वीरों की तलाश बंद की जाए और मुझे अपना काम करने दिया जाए, जिसके लिए मुझे चुना गया था. मुझे एशफ़ील्ड के लोगों का प्रतिनिधित्व करना है और शेडो कैबिनेट में काम करना है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.