BBC navigation

'ईरान के साथ अब तक की सबसे विस्तृत बातचीत'

 बुधवार, 16 अक्तूबर, 2013 को 22:54 IST तक के समाचार
ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर बातचीत

ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर जिनीवा में हुई बातचीत को दोनों पक्षों ने सकारात्मक बताया

ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर उसकी दुनिया के कुछ प्रमुख देशों के साथ जो बातचीत हुई है उसे अब तक की 'सबसे विस्तृत बातचीत' क़रार दिया गया है. यूरोपीय संघ की विदेश मामलों की प्रमुख अधिकारी कैथरीन ऐश्टन ने ये बयान दिया है.

दोनों पक्षों के बीच जिनीवा में दो दिनों तक चर्चा चली. इसके बाद सात और आठ नवंबर को फिर से बातचीत होगी.

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ़ ने कहा कि बातचीत 'काफ़ी विस्तृत और लाभदायक' रही.

ऐश्टन ने बताया है कि अंतरराष्ट्रीय वार्ताकार ईरान के प्रस्ताव को काफ़ी सावधानी से परख रहे हैं. जिनीवा में इस चर्चा में ईरानी अधिकारियों के साथ ब्रिटेन, चीन, फ़्रांस, रूस, अमरीका और जर्मनी के प्रतिनिधि शामिल हैं.

वार्ता के बाद में दोनों ही पक्षों ने ज़ोर देकर बताया कि अभी कई और ब्यौरों पर चर्चा होनी बाक़ी है.

विवादास्पद मुद्दे

इससे पहले एक ईरानी अधिकारी ने कहा था कि ईरानी परमाणु ठिकानों का औचक निरीक्षण जैसी बातें समझौते के 'अंतिम चरण' में हो सकती हैं.

अधिकारी ने ईरानी मीडिया को बताया था कि यूरेनियम संवर्धन का स्तर कम करना भी अंतिम समझौते का हिस्सा होगा.

ईरान इससे पहले कह चुका है कि जिनीवा में दो दिन की शिखर वार्ता में उसका प्रस्ताव 'किसी नई पहल की क्षमता रखता है'.

जब से अपेक्षाकृत उदारवादी माने जाने वाले हसन रूहानी ईरान के राष्ट्रपति बने हैं ये वार्ता पहली बार हुई है.

अब तक पश्चिमी देशों का शक रहा है कि ईरान परमाणु बम बनाने की कोशिश कर रहा है जबकि ईरान कहता रहा है कि उसका परमाणु कार्यक्रम पूरी तरह शांतिपूर्ण कार्यों के लिए है.

जिनीवा में मौजूद बीबीसी संवाददाता जेम्स रेनॉल्ड्स के अनुसार अंतरराष्ट्रीय वार्ताकार चाहते हैं कि ईरान कुछ ख़ास क़दम उठाए जिससे उसे परमाणु हथियार विकसित करने की संभावना से दूर किया जा सके. इसके बदलवे उन्होंने आश्वासन दिया है कि हाल के वर्षों में ईरान पर जो कड़े अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगाए गए हैं वे उठा लिए जाएँगे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.