अमरीका: संसद के पास गोलीबारी, महिला की मौत

  • 4 अक्तूबर 2013

अमरीका की राजधानी वाशिंगटन में एक कार को पकड़ने की कोशिश के दौरान अमरीकी संसद के नज़दीक गोलीबारी हुई और हंगामा मच गया. इस घटना में एक महिला की मौत हुई है जबकि दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

स्थानीय पुलिस अधिकारी किम डाइन ने घटना के पत्रकारों को बताया कि इस घटना का "आतंकवाद" के साथ कोई लेना देना नहीं था.

डाइन ने बताया कि इस घटना में एक पुलिस अधिकारी घायल हुआ है और एक व्यक्ती को हिरासत में लिया गया है. पुलिस इस घटना को हादसा भी नहीं मान रही है.

दो हफ़्ते पहले ही वाशिंगटन नेवी यार्ड पर हुई शूटिंग में बारह लोग मारे गए थे.

पुलिस के मुताबिक स्थानीय समयानुसार दोपहर दो बजकर बारह मिनट पर काली सेडान कार में सवार एक महिला ने व्हाइट हाउस की बाहरी चारदिवारी को लाँघने की कोशिश की. महिला ने अपनी कार कैपिटल की ओर दौड़ा दी. पुलिस की गाड़ियाँ पीछे लग गईं.

महिला ने कैपिटल के पश्चिमी लॉन के बाहर लगे बैरियर भी लाँघने की कोशिश की. टीवी पर प्रसारित घटना के वीडियो में हथियारों से लैस पुलिस अधिकारी कार को घेरे हुए दिख रहे हैं. अधिकारियों द्वारा गोली चलाने पर महिला कार भगा देती है.

पीछा करने की कार्रवाई के दौरान पुलिस की एक कार भी बैरियर से टकरा गई और महिला की कार ने अमरीकी ख़ुफ़िया विभाग के एक वाहन को टक्कर भी मार दी.

संसद के बाहर हुई गोलीबारी से बचने के लिए लोग ज़मीन पर लेट गए

पुलिस के अनुसार ख़ुफ़िया विभाग के अधिकारियों और कैपिटल पुलिस ने दो स्थानों पर कार पर फायरिंग की . फायरिंग में महिला की मौत हो गई. पुलिस इस महिला की पहचान के बारे में मौन है.

पुलिस ने महिला की कार से एक साल के एक बच्चे को भी सुरक्षित निकाला है. बच्चा फिलहाल पुलिस के पास है.

गोलीबारी की आवाज़ आते ही अमरीकी राजधानी का पूरा सुरक्षा तंत्र सक्रीय हो गया और संसद के कर्चारियों को हिदायत दी गयी कि वो खिड़की दरवाज़े बंद कर लें.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को पूरी घटना के बारे पल पल की जानकारी दी गई.

संसद के पास मौजूद पत्रकारों, संसद कर्चारियों और पर्यटकों को संसद के परिसर के अंदर शरण लेने के लिए कहा गया.

एक चश्मदीद ने बीबीसी को बताया कि उसने 10-12 गोलियों की आवाजें सुनीं.

गोलीबारी के वक़्त कुछ अमरीकी सांसद इमारत के बाहर थे. अमरीकी अख़बार न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक इन लोगों ने पुलिस को एक कार का पीछा करते हुए इमारत के सामने आ कर रुकते देखा.

सांसद बॉब केसी ने अख़बार को बताया,"मैंने गोलियों की आवाज़ सुनी और हमें झुकने को कहा गया."

संसद के कर्मचारियों को एक ई-मेल में हिदायत दी गयी की वो खिड़कियाँ दरवाज़े बंद कर लें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)