पाकिस्तानः चरमपंथियों से भूकंप प्रभावित इलाक़ों में हमले रोकने की अपील

  • 27 सितंबर 2013

पाकिस्तानी अधिकारियों ने भूकंप प्रभावित दक्षिण-पश्चिम प्रांत में चरमपंथियों से हमले रोकने की अपील की है.

बलूचिस्तान सरकार में एक प्रवक्ता ने कहा है कि चरमपंथियों के हमले के कारण इलाके के कुछ जिलों में राहत और बचाव कार्य प्रभावित हो रहा है.

इलाके में पाकिस्तान के अर्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स के जवान राहत और बचाव अभियान चला रहे हैं.

इलाके में बलूचिस्तान के अलगाववादी चरमपंथियों से निपटने के लिए पहले से अर्धसैनिक बल के हज़ारों जवान तैनात हैं.

रिपोर्टों के मुताबिक गुरुवार को भूकंप प्रभावित इलाके के दौरे पर गए पाकिस्तान के राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रमुख मेजर जनरल आलम सईद का हेलीकॉप्टर एक रॉकेट हमले में बाल-बाल बच गए.

इसके बाद फ्रंटियर कार्प्स के जवानों पर अवारन में भी गोलीबारी की गई. इस ज़िले में भूकंप से सबसे अधिक तबाही मची है.

तबाही

अंतरराष्ट्रीय और पश्चिमी देशों के सामाजिक कार्यकर्ताओं को भी भूकंप प्रभावित क्षेत्रों में काम करने में दिक्कत हो रही है.

पिछले मंगलवार को आए 7.7 की तीव्रता के भूकंप के कारण कम से कम 400 लोगों की मौत हुई है जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए हैं.

कई भूकंप प्रभावित इलाकों में अब तक राहत और बचाव दल नहीं पहुंच पाए हैं.

क्वेटा में मौजूद बीबीसी के शाहज़ेब ज़िलानी ने बताया कि सरकारी अधिकारियों का कहना है खराब सड़क संपर्क के कारण बचावकर्मी कई प्रभावित इलाकों में नहीं पहुंच रहे हैं.

अधिकारियों का अनुमान है कि इलाके के छह ज़िलों में करीब तीन लाख लोग भूकंप से प्रभावित हुए हैं. पीड़ित लोगों को भोजन और पानी के अलावा डॉक्टर और दवाओं की ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार