BBC navigation

गोलीबारी के संदिग्ध एरोन एलेक्सिस ने बौद्ध धर्म अपनाया था

 मंगलवार, 17 सितंबर, 2013 को 15:02 IST तक के समाचार
एरोल एलेक्सिस

अमरीका के वॉशिंगटन नेवी यार्ड में गोलीबारी कर 12 लोगों की जान लेने के संदिग्ध एरोन एलेक्सिस का एक फोटो सामने आया है.

सोमवार को हुई इस घटना के बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एरोन एलेक्सिस की भी मौत हो गई.

धर्मपरिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपनाने वाले एलेक्सिस रेस्तरां में भी काम कर चुके थे.

आमतौर पर इस तरह की क्लिक करें गोलीबारी का मक़सद रहस्य ही रह जाता है. लेकिन लगता है कि संदिग्ध का अशांत अतीत एक ख़तरनाक़ संकेत दे रहा है.

अमरीकी संघीय जाँच एजेंसी एफ़बीआई के मुताबिक एरोन एलेक्सिस का जन्म 1979 में न्यूयार्क में हुआ था. उनकी एक आंटी ने 'वॉशिंगटन पोस्ट' अख़बार को बताया कि एलेक्सिस अपने माता-पिता के साथ ब्रुकलिन में रहे और पले-बढ़े.

सम्मानित सैनिक

रक्षा अधिकारियों के मुताबिक़ क्लिक करें एलेक्सिस नौसेना में 2007 में शामिल हुए थे. इलिनॉय में प्रशिक्षण के बाद उनकी पहली पोस्टिंग टेक्सस के फ़ोर्ट वर्थ में हुई. वहाँ उन्होंने रसद पहुँचाने वाले बेड़े में काम किया.

दिसंबर 2009 में उन्हें तीसरे दर्जे का पेटी ऑफिसर बना दिया गया, जो रिजर्ब बल में उनका सर्वोच्च स्थान था.

"मैं एलेक्सिस को टेक्सस के नौसैनिक हवाई अड्डे के बगल में स्थित रेस्टोरेंट के एक शांत बैरे के रूप में जानता हूं. "

बड कैनेडी, फ़ोर्ट वर्थ स्टार टेलीग्राम अख़बार के पत्रकार

एलेक्सिस को उनके कार्यकाल में 'नेशनल डिफ़ेंस सर्विस मेडल' और 'ग्लोबल वार ऑन टेरर सर्विस मेडल' से सम्मानित किया गया था. ये दोनों सम्मान अमरीका पर 9/11 के हमले के बाद देश और देश से बाहर सेवाएं देने वाले बहुत से सैनिकों को दिया गया.

एलेक्सिस को जनवरी 2011 में छुट्टी दे दी गई थी. अभी यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें हटाया क्यों गया था. लेकिन कुछ अनाम सैन्य सूत्रों ने अमरीकी मीडिया को बताया कि उनके कार्यकाल में ग़लत व्यवहार के कई मामले सामने आए.

सेना से निकाले जाने के बाद एरोन एलेक्सिस इंब्री-रिडेली विश्वविद्यालय से वैमानिकी में स्नातक की ऑनलाइन पढ़ाई करने लगे. विश्वविद्यालय ने कहा है कि एलेक्सिस ने पिछले साल पढ़ाई शुरू की थी.

गोलीबारी के समय वे एक अनुबंधित कर्मचारी के रूप में यूएस नेवी इंटरनेट नेटवर्क पर काम कर रहे थे. उनके पास वॉशिंगटन नेवी यार्ड में प्रवेश करने का वैध पास था.

सेना की नौकरी छोड़ने के बाद एलेक्सिस ने पैसे के लिए एक थाई रेस्टोरेंट में भी काम किया.

उन्हें 2004 में एक मजदूर की कार पर गोलीबारी करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था. उन्होंने पुलिस से कहा कि उन्हें लगा कि बिल्डर ने घटना वाली सुबह उनका मज़ाक उड़ाया था.

अदालती दस्तावेज़ों के मुताबिक़ मज़दूरों से संपर्क करने से बचने की शर्त पर उन्हें रिहा किया गया था.

अशांत अतीत

वॉशिंगटन नेवी यार्ड में गोलीबारी की घटना के दौरान वहां तैनात जवान

वॉशिंगटन नेवी यार्ड में गोलीबारी के बाद जवाबी कार्रवाई हुई जिसमें एलेक्सिस मारे गए

उनके पिता अल्गेर्नोन एलेक्सि ने घटना के बाद जांचकर्ताओं को बताया था कि उनका बेटा पोस्ट ट्रामैटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर से पैदा हुए क्रोध प्रबंधन की समस्या से पीड़ित था. उन्होंने बताया कि इस वजह से उनके बेटे को 9/11 के हमले के बाद चलाए गए राहत कार्यों से हटा दिया गया.

फोर्ट वर्थ के अपार्टमेंट में उनकी पड़ोसी ने 2010 में पुलिस बुलाकर आरोप लगाया था कि उन्होंने छत से गोली चलाई. इससे वह मरते-मरते बचीं.

उन्होंने पुलिस से कहा कि साफ़ करते समय उनकी बंदूक से अचानक गोली चल गई थी. इस वजह से उन पर कोई आरोप नहीं दर्ज किया गया.

फ़ोर्ट वर्थ में उनके कमरे में रह चुके और एलेक्सिस को अपने सबसे अच्छा दोस्त बताने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि गोलीबारी की ख़बर से वे हैरान हो गए.

थाई रेस्टोरेंट 'हैप्पी बाउल' के मालिक नुटपिस्ट सुथमटेवाकुल ने 'फ़ोर्ट वर्थ स्टार टेलीग्राम' अख़बार से कहा, ''मुझे नहीं लगता कि उन्होंने ऐसा किया.''

बौद्ध धर्म के अनुयायी

वॉशिंगटन यार्ड में गोलीबारी से हमलावर के पूर्व साथी हैरान हैं

वॉशिंगटन यार्ड में गोलीबारी से हमलावर के पूर्व साथी हैरान हैं

इस अख़बार के पत्रकार बड कैनेडी ने बीबीसी से कहा कि वह एलेक्सिस को टेक्सस के नौसैनिक हवाई अड्डे के बगल में स्थित रेस्टोरेंट के एक शांत वेटर के रूप में जानते हैं.

उन्होंने कहा, ''उनके पास अपनी बंदूक थी. लेकिन वह किसी भी रूप में आक्रामक नहीं हो सकता.''

खबरों के मुताबिक़ एलेक्सिस ने बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया था और वो पड़ोसी शहर के एक बौद्ध मंदिर में जाते थे.

इस बौद्ध मंदिर के भिक्षु के सहायक जे सीरुन ने 'वॉशिंगटन पोस्ट' अख़बार से कहा कि एलेक्सिस को वहां से हटा दिया गया था.

उन्होंने कहा कि एलेक्किसन दूसरों के बहुत नज़दीक नहीं थे, जैसा कि युद्ध में एक सैनिक होता है. वह वाट बुसायाधम्मवरनम ध्यान केंद्र में दूसरों के लिए उपयोगी थे.

उन्होंने कहा, ''मुझे यह जानकर आश्चर्य नहीं होगा कि उसने आत्महत्या कर ली है. लेकिन मैं यह नहीं मान सकता कि वह किसी की क्लिक करें हत्या कर सकता है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.