सीरिया: क्या है सारिन गैस और कितनी ज़हरीली है ये?

  • 2 सितंबर 2013
पीड़ितों के परिजन
सीरिया में कथित रासायनिक हमले में सैकड़ों लोग मारे गए

अमरीका ने कहा है कि उसके पास इस बात के प्रमाण हैं कि पिछले महीने सीरिया में दमिश्क के बाहरी इलाके में हुए कथित रासायनिक हमले में सीरिया की सरकार ने सारिन नामक रासायनिक का उपयोग किया था.

बीबीसी ने यह जानने की कोशिश की है कि सारिन क्या है और इसका प्रयोग कब किया गया.

क्या है सारिन?

यह नर्व एजेंट कहे जाने वाले पदार्थों में से एक है. इसके अलावा वीएक्स, ताबुन और सोमन अन्य नर्व एजेंट हैं.

यह साफ़, रंगहीन और स्वादहीन तरल पदार्थ होता है, जो बहुत जल्द ही वाष्प या वेपर में बदल जाता है.

नर्व एजेंट बहुत ही ख़तरनाक पदार्थ होते हैं. ये सायनाइड से भी अधिक खतरनाक़ ज़हर होते हैं.

इसकी सूई के नोक के बारबर मात्रा किसी भी इंसान के लिए घातक हो सकती है. आमतौर पर इसके वाष्प के संपर्क में आने के 15 मिनट के अंदर व्यक्ति की मौत हो जाती है.

तरल रूप में त्वचा के संपर्क में आने पर भी यह घातक हो जाता है.

इसके संपर्क में आने के बाद शरीर में मरोड़-ऐठन और श्वसनतंत्र के काम करना बंद कर देने से मौत हो सकती है.

सीरिया में रासायनिक महला
सीरिया में इससे पहले भी रासायनिक हमले के आरोप लगते रहे हैं

एट्रोपाइन और पारलीडॉक्सिम के प्रयोग से इसके प्रभाव से बचा जा सकता है, इससे तुरंत इलाज करना प्रभावशाली होगा.

इसका प्रयोग कब किया गया?

सारिन की खोज 1930 के दशक में जर्मनी में हुई थी. लेकिन दूसरे विश्व युद्ध में इसका इस्तेमाल नहीं किया गया.

विश्व युद्ध के बाद दुनिया की हर शक्ति ने नर्व गैस तैयार की. ब्रिटेन ने इसके स्थान पर 'वीएक्स' तैयार की.

इराक़ के हालाबजा में 1988 में इराकी सरकार ने जिन रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया, उनमें सारिन भी शामिल था. इस हमले में पाँच हज़ार कुर्द लोगों की मौत हुई थी.

जापान के आंऊं शिनरिक्यो संप्रदाय की ओर से 1995 में किए गए हमले में टोक्यो मेट्रो में सारिन गैस से भरे छिद्रित बैग छोड़ दिए गए थे. इस हमले में 12 लोगों की मौत हुई थी.

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने कहा है कि दमिश्क के बाहरी इलाके में 21 अगस्त को हुए हमले के पीड़ितों के बाल और ख़ून से लिए गए नमूने सारिन की जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं.

सीरिया में पहले हुए इस तरह के हमलों में सारिन के उपयोग के सबूत होने की बात अमरीका पहले भी करता रहा है.

सीरिया को सारिन कैसे मिला?

जापान में सारिन का हमला
जापान में 1995 में सारिन के हमले से 12 लोग मारे गए थे

माना जाता है कि सीरिया 1980 के दशक से सारिन का उत्पादन कर रहा है.

रक्षा और विदेश मामलों की रिपोर्ट के अनुसार अमरीकी अधिकारियों ने दावा किया है कि सीरिया ने 1988 में कीटनाशक दवाएं बनाने वाले अपने कुछ कारखानों को सारिन बनाने वाले कारखानों में बदल दिया.

सीरिया में सारिन के उपयोग के अमरीका के पास क्या प्रमाण है?

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने रविवार को कहा था कि उनके पास दमिश्क के बाहरी इलाके में हुए हमले में सारिन गैस के उपयोग के पुख्ता सबूत हैं, जिसमें सैकड़ों लोगों की मौत हुई थी.

कैरी ने कहा था कि आपातकर्मियों के बाल और ख़ून के नमूनों में इसके अवशेष मिले हैं.

ज़हरीली गैसों के उपयोग की आशंका के बाद अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा सीरिया पर सैन्य कार्रवाई के लिए कांग्रेस से इजाजत मिलने का इंतजार कर रहे हैं.

हालांकि सीरिया रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल से इनकार करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार