सीरिया को लेकर ब्रिटेन में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ी

  • 2 सितंबर 2013
सीरिया संकट

सीरिया के मसले पर ब्रिटेन में राजनीतिक उटापटक का माहौल बना हुआ है. ब्रिटेन के उप प्रधानमंत्री निक क्लेग ने कहा है कि उन्हें ऐसे हालात नज़र नहीं आते जिसमें ब्रितानी सांसदों को सीरिया के मुद्दे पर दोबारा वोट करने के लिए कहा जा सकता है.

जबकि इससे पहले कंजर्वेटिव पार्टी के नेता और लंदन के मेयर बॉरिस जॉन्सन ने कहा था कि सीरिया में हुए कथित रासायनिक हमलों में शामिल ताकतों के बारे में अगर नए सबूत सामने उभर कर आए तो देश के निचले सदन 'हाउस ऑफ़ कॉमन्स' के सामने यह प्रस्ताव दोबारा लाया जा सकता है.

'अल-कायदा मजबूत होगा'

बॉरिस जॉन्सन ने सीरिया पर संभावित सैन्य कार्रवाई में ब्रिटेन के शामिल होने के मुद्दे पर संसद में सरकार का प्रस्ताव गिर जाने के बाद दूसरी बार मतदान कराए जाने की माँग का समर्थन किया है.

पिछले हफ्ते 'हाउस ऑफ़ कॉमन्स' में यह प्रस्ताव 272 के मुकाबले 285 मतों से अस्वीकार कर दिया गया था.

तरकश में हथियार

इससे पहले सरकार के मंत्रियों ने यह प्रस्ताव नए सिरे से पेश किए जाने की बात से इनकार किया था. विदेश मंत्री विलियम हेग ने कहा भी कि संसद अपनी बात कह चुकी है.

सारिन का सबूत

सीरिया संकट

उधर अमरीका की संसद के निचले सदन कॉन्ग्रेस में सीरिया पर सैन्य कार्रवाई संबंधी प्रस्ताव मंजूरी के लिए लंबित है.

कहाँ आ पहुँचा सीरिया

अगले हफ्ते कॉन्ग्रेस को इस पर फैसला लेना है और इसी के मद्देनज़र अमरीका ने सीरिया पर हमले की कार्रवाई को टाल रखा है.

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि दमिश्क में पिछले महीने हुए जानलेवा हमले में तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करने रसायन सारिन के इस्तेमाल होने के सबूत अमरीका के पास हैं.

इस बीच सीरिया को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय में गतिविधियाँ जारी हैं. अरब लीग के विदेश मंत्रियों ने विश्व समुदाय से सीरिया को रोकने के लिए उसके खिलाफ जरूरी कदम उठाने की अपील की हैं.

लेकिन लेबनान और इराक जैसे कुछ सदस्य देशों ने इस माँग का समर्थन नहीं किया है.

वे जो वतन से जुदा हुए

इस इलाके में अमरीका के महत्वपूर्ण सहयोगी जॉर्डन ने भी दमिश्क के खिलाफ काम कर रहे अमरीकी नेतृत्व वाले धड़े में शामिल होने की संभावना से इनकार किया है.

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञ सीरिया से इकट्ठा किए गए नमूनों की जाँच कर रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल अन्य अवसरों पर तो नहीं किया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार