BBC navigation

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री को 'नाज़ी' दिखाने पर विवाद

 गुरुवार, 8 अगस्त, 2013 को 19:13 IST तक के समाचार
डेली टेलीग्राफ में छपी विवादास्पद तस्वीर

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री केविन रड को इस तस्वीर में नाज़ी किरदार में दिखाया गया है.

ऑस्ट्रेलिया में प्रधानमंत्री केविन रड को नाज़ी के तौर पर दिखाने पर विवाद गहरा गया है.

मीडिया कारोबारी रुपर्ट मर्डोक के अखबार डेली टेलीग्राफ ने गुरुवार को पहले पन्ने पर केविन रड का फोटो छापा था, इस फोटो में उन्हें कर्नल क्लिंक के तौर पर दिखाया गया था.

पढ़िए : क्लिक करें ऑस्ट्रेलिया में आम चुनाव की तिथियां घोषित

कर्नल क्लिंक 1960 के दशक के कॉमेडी शो होगन्स हीरोज़ में एक अनाड़ी नाज़ी कमांडर का किरदार था.

इसके अलावा अख़बार ने केविन रड के चुनाव का ऐलान करने के अगले दिन लिखा था 'किक दिस मॉब आउट' यानी 'इस गिरोह को लात मारकर बाहर करो'.

इससे नाराज केविन रड ने बुधवार को रुपर्ट मर्डोक पर आरोप लगाया कि वो अपने कारोबारी हितों के लिए चुनाव में दखलंदाज़ी कर रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया में 7 सितंबर को चुनाव हैं जिनमें केविन रड की लेबर पार्टी का मुकाबला टोनी एबट की अगुवाई वाले लिबरल नेशनल गठबंधन से है.

केविन रड जून में ही जूलिया गिलार्ड की जगह प्रधानमंत्री बने हैं.

ऑस्ट्रेलिया के समाचारपत्र बाज़ार में रुपर्ट मर्डोक के न्यूज़ कॉर्प का प्रभुत्व है और उनके डेली टेलीग्राफ ने ज़ोरदार केविन रड विरोधी रुख अपनाया हुआ है.

गुरुवार को छपी तस्वीर में केविन रड, उपप्रधानमंत्री एंथनी अल्बानिज़ और लेबर पार्टी के सांसद क्रैग थॉमसन को जर्मन युद्धबंधी शिविर पर आधारित शो के किरदार के तौर पर दिखाया गया था.

एंथनी अल्बानिज़ और क्रैग थॉमसन पिछले दिनों सिडनी में एक बार में बीयर पीते हुए दिखाई दिए थे इसके बाद ये तस्वीर छपी है.

कारोबारी हितों पर सवाल

रुपर्ट मर्डोक

रुपर्ट मर्डोक के न्यूज़ कॉर्प का ऑस्ट्रेलिया के समाचार पत्र बाजार पर प्रभुत्व है.

बुधवार रात को एक टेलीविज़न इंटरव्यू में केविन रड ने कहा, "रुपर्ट मर्डोक ने अपने निवेश के ज़रिए ये दिखाया है कि वो चाहते हैं कि मेरी जगह टोनी एबट प्रधानमंत्री बनें."

रड का कहना है कि हो सकता है कि मर्डोक की हिस्सेदारी वाली कंपनी "फॉक्सटेल को लेबर की नेशनल ब्रॉडबैंड नेटवर्क (एनबीएन) नीति से ख़तरा हो इसलिए वो ऐसा कर रहे हैं."

फॉक्सटेल एक केबल कंपनी है जिसमें रुपर्ट मर्डोक की भी आंशिक हिस्सेदारी है.

केविन रड ने ये भी मांग की कि टोनी एबट ये बताएं कि क्या उनकी रुपर्ट मर्डोक से एनबीएन नीति के बारे में कोई बात हुई है.

रड को जवाब देते हुए टोनी एबट ने उन्हें "आलोचना से जल्दी नाराज़' होने वाला बता दिया. टोनी एबट ने कहा कि "क्या मैंने रुपर्ट मर्डोक से एनबीएन के बारे में बात की है? नहीं मैंने बात नहीं की."

मंगलवार को एक ट्वीट में रुपर्ट मर्डोक ने इस बात पर सवाल उठाए थे कि नेशनल ब्रॉडबैंड नेटवर्क का खर्च किस तरह उठाया जाएगा.

लेबर पार्टी की 34.2 अरब डॉलर यानी करीब एक लाख 83 हज़ार करोड़ रुपए की इस योजना में हर घर को हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन देने का वादा किया गया है.

लेकिन ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन के मुताबिक बुधवार को न्यूज़ कॉर्पोरेशन ने कहा कि "अगर कोई ये समझता है कि हमारे अख़बारों की संपादकीय नीति फॉक्सटेल के कारोबारी हितों पर आधारित है तो इससे हमारे और फॉक्सटेल के कारोबार के बारे में नादानी का पता चलता है."

इस हफ्ते की शुरुआत में न्यूज़कॉर्प के एक प्रवक्ता ने डेली टेलीग्राफ का बचाव करते हुए कहा कि वो अपनी राय रख सकते हैं और 2007 के चुनाव में उन्होंने केविन रड का समर्थन किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.