BBC navigation

ओसामा के बाद कौन-कौन है अल क़ायदा में

 बुधवार, 7 अगस्त, 2013 को 12:52 IST तक के समाचार
पुंछ

भारत-प्रशासित कश्मीर में पाँच सैनिकों की क्लिक करें मौत पर भारतीय विदेश मंत्री क्लिक करें सलमान खुर्शीद ने कहा है कि सरकार को अपनी ज़िम्मेदारियों के बारे में एहसास है और वो सभी विकल्पों पर विचार करने के बाद राष्ट्रीय हित में काम करेगी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार क्लिक करें सलमान खुर्शीद ने कहा, “हम जल्दबाज़ी में कोई निर्णय नहीं लेना चाहते. हम ऐसी स्थिति को जन्म नहीं देना चाहते जिससे भारत की सुरक्षा और शांति को खतरा पहुँचे. हम राष्ट्रीय हित में जो भी ज़रूरी होगा, वो करेंगे.”

पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर हुए एक क्लिक करें हमले में मंगलवार को पाँच भारतीय सैनिकों की मौत हो गई थी. राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्विटर पर इस बात की पुष्टि की थी.

भारतीय संसद के दोनो सदनों में इस हमले को लेकर विपक्ष ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की.

रक्षा मंत्री एके एंटनी ने लोकसभा में घटना की निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों की पोशाक में आए 20 हथियारबंद आतंकवादियों ने भारतीय जवानों पर हमला किया.

एंटनी ने कहा कि भारतीय सेना ऐसी घटनाओं से निपटने और नियंत्रण रेखा की रक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार है.

रक्षा मंत्री ने ये भी कहा कि पाकिस्तान ने इस साल अब तक 57 बार युद्धविराम का उल्लंघन किया है.

उधर विपक्ष इस बात से नाराज़ था कि रक्षा मंत्री ने अपने वक्तव्य में सीधे-सीधे पाकिस्तानी सैनिकों को ज़िम्मेदार क्यों नहीं ठहराया.

इंकार

विपक्ष ने पाकिस्तान को इस घटना के लिए ज़िम्मेदार ठहराया लेकिन पाकिस्तान में इससे क्लिक करें इंकार किया है.

भारतीय जनता पार्टी के यशवंत सिन्हा जैसे नेताओं का मानना है कि एके एंटनी का ये कहना कि हमलावर पाकिस्तानी सैनिकों को पोशाक पहने हुए थे, इससे पाकिस्तान को आरोपों से बच निकलने का मौका मिलेगा.

"मैं यहाँ विपक्ष की तरह नहीं बर्ताव करना चाहताय मैं उनसे सलाह नहीं लूँगा. मैं वही करूँगा जो मुझे लगे देशहित में लगेगा. "

सलमान खुर्शीद, विदेश मंत्री

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक भाजपा और समाजवादी पार्टी के नेताओं ने कहा कि सरकार पाकिस्तान के बार-बार के हमलों को लेकर "ख़ुद को बेबस क्यों महसूस" कर रही है.

राज्यसभा में विपक्ष के उप नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि "सरकार और कितने जवानों के मरने पर जगेगी?"

रक्षा मंत्री एके एंटनी के संसद में दिए गए बयान पर पूछे जाने पर सलमान खुर्शीद ने कहा कि एंटनी का बयान तथ्यों पर आधारित था.

पीटीआई के अनुसार खुर्शीद ने कहा, “उन्होंने सेना को घटना के बारे में ज़्यादा जानकारी देने के लिए कहा है. हमने साफ़ किया है कि हमें कमज़ोर नहीं समझा जाना चाहिए और ये भी नहीं कि हम चौकन्ने नहीं हैं. हमें किसी भी चुनौती का सामना कर सकते हैं. हमें क्या करना है, सरकार इस पर गंभीरता से विचार करेगी. और कोई भी फ़ैसला एक दिन में नहीं ले लिया जाता.”

उधर विपक्ष ने मांग की है कि इस घटना के लिए कथित तौर पर ज़िम्मेदार पाकिस्तान को माकूल जवाब दिया जाए.

विपक्ष की इस मांग पर खुर्शीद ने कहा कि वो विपक्षी नेताओं से सलाह नहीं लेंगे क्योंकि उन्हें (राष्ट्रीय हितों के बारे में) समझ नहीं है.

खुर्शीद ने कहा, “मैं यहाँ विपक्ष की तरह नहीं बर्ताव करना चाहताय मैं उनसे सलाह नहीं लूँगा. मैं वही करूँगा जो मुझे लगे देशहित में लगेगा. ये दुख की बात है कि विपक्ष देशहित को नहीं समझता लेकिन हम समझते हैं. हमें अपनी ज़िम्मेदारियों का एहसास है.”

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.