अफ़ग़ानिस्तान: भारतीय वाणिज्य दूतावास के पास धमाके, आठ की मौत

  • 3 अगस्त 2013
भारतीय दूतावास पर हमला

अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी प्रांत नंगरहार की राजधानी जलालाबाद में स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास के क़रीब एक आत्मघाती हमला हुआ है. हमले में कम से कम आठ लोग मारे गए हैं. भारतीय अधिकारियों का कहना है कि उनका कोई भी नागरिक इस हमले का शिकार नहीं हुआ है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद अकबरूद्दीन ने ट्विटर पर कहा है कि हताहतों में एक अफ़गान सुरक्षाकर्मी और कुछ नागरिक शामिल हैं.

उन्होंने ये भी कहा, "अफ़गानिस्तान को पुर्निमार्ण और विकास में मदद करने की भारत की वचनबद्धता पर कोई असर नहीं पड़ेगा."

पुलिस के अनुसार स्थानीय समयानुसार क़रीब 10 बजे तीन आत्मघाती हमलावर ग एक कार में आए और उन्होंने वाणिज्य दूतावास के पास विस्फोट कर दिया.

धमाके के फ़ौरन बाद गोली बारी की भी आवाज़े सुनी गईं.

जल्द ही बंद होंगे अमरीकी ड्रोन हमले

पहले भी हुए हैं हमले

एक दिन पहले ही अमरीका ने मध्य पूर्व और उत्तरी अफ़्रीका में रविवार को अपने दूतावासा और वाणिज्य दूतावास बंद करने की घोषणा की थी. अमरीका को आशंका है कि अल क़ायदा रविवार को धमाकों की योजना बना रहा है.सुरक्षा अलर्ट के तहत काबुल में अमरीकी दूतावास बंद रहेगा.

वहीं अफ़ग़ानिस्तान में भारतीय दफ़्तरों को पहले भी निशाना बनाया जा चुका है.पिछले साल भी जलालाबाद हवाई अड्डे के पास तालिबान ने हमले किए थे. 2008 और 2009 में काबुल में भारतीय दूतावास पर दो बार हमला हुआ था जिसमें कई लोग मारे गए थे.

अफ़ग़ानिस्तान को लेकर पाक की चिंताएँ

तालिबान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी की ख़बर का खंडन किया है. तालिबान प्रवक्ता ज़ाहिबुल्लाह मुजाहिद ने एएफ़पी को बताया, हमारे लड़ाकों ने जलालबाद में हमले नहीं किए हैं.

नंगरहार में जहाँ ताज़ा हमला हुआ है, वहाँ से सुरक्षाकर्मियों और चरमपंथियों के बीच भीषण लड़ाई की ख़बरे थीं. बताया जा रहा है कि तालिबाने के 76 लोग मारे गए हैं और 22 पुलिसकर्मियों की भी मौत हो गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार