पाकिस्तान: जेल पर हमला, 200 से अधिक क़ैदी फ़रार

  • 30 जुलाई 2013
taliban
हमले में जेल की दीवार को भी नुकसान पहुंचा है.

पाकिस्तान में अधिकारियों के मुताबिक़ तालिबान चरमपंथियों ने एक जेल पर हमला करके 240 से अधिक क़ैदियों को छुड़ा लिया.

ये हमला सोमवार रात उत्तर-पश्चिम शहर डेरा इस्माइल ख़ान में हुआ. अधिकारियों का कहना है कि इस हमले में 12 लोग मारे गए हैं जिनमें छह पुलिसकर्मी शामिल हैं.

पाकिस्तानी तालिबान के प्रवक्ता शाहिदुल्लाह शाहिद ने हमले की ज़िम्मेदारी ली है. उन्होंने कहा है कि क़रीब 300 क़ैदी छुड़ा लिए गए हैं.

पुलिस प्रमुख सोहेल ख़ालिद ने बताया कि पहले कई धमाके हुए और फिर बंदूकधारियों ने रॉकेट लांचर से गोले दागे और मशीनगनों से फायरिंग की.

रिपोर्टों के अनुसार इस जेल में सैकड़ों तालिबान और प्रतिबंधित समूहों से संबंध रखने वाले चरमपंथी बंद हैं.

तालिबान

शहर के आयुक्त मुश्ताक जैदून ने कहा कि 243 क़ैदी भागने में सफल रहे जिनमें 30 कट्टर चरमपंथी भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे 14 क़ैदियों को बाद में पुलिस ने फिर पकड़ लिया.

उन्होंने कहा, ''तालिबान के पास लाउड स्पीकर था और वो उस पर अपने दोस्तों के नाम पुकार रहे थे.''

जैदून ने एआरवाई टीवी को बताया कि चरमपंथियों ने जेल में कई बम रखे हुए थे जिनमें से अब तक 14 को निष्क्रिय किया जा चुका है.

शहर में कर्फ्यू लगाया गया है और क़ैदियों की धरपकड़ के लिए अभियान चल रहा है.

समाचार एजेंसी एपी को अधिकारियों ने बताया है कि हमलावर 'अल्लाह हो अकबर' और 'तालिबान ज़िदाबाद' के नारे लगा रहे थे.

हलचल

taliban
चरमपंथियों ने रॉकेट लांचरों और मशीनगनों से फायरिंग की.

एक स्थानीय व्यक्ति ने एजेंसी को बताया कि पहला धमाका था वो इतना ज़बरदस्त था कि उसकी गूंज से आस-पास के कई मकानों में हलचल मच गई.

अधिकारियों के अनुसार जेल पर हमला करने वाले इन लोगों ने पुलिस की वर्दी पहनी हुई थी.

प्रांत में जेल विभाग के प्रमुख ख़ालिद अब्बास ने एपी को बताया कि प्रशासन को जेल पर हमले की धमकी को लेकर एक ख़त मिला था लेकिन उन्हें अंदाज़ा नहीं था कि ये हमला इतनी जल्दी हो जाएगा.

पिछले साल 2012 में ही अप्रैल के महीने में बानू में एक जेल पर किए गए हमले में सैकड़ों क़ैदियों को हमलावरों ने छुडा़ लिया था.

ख़ैबर पख़्तून ख़्वाह प्रांत का डेरा इस्माइल ख़ान मुख्य शहर है. ये हमला एक ऐसे समय में हुआ है जब पाकिस्तान के राजनेता देश के नए राष्ट्रपति का चुनाव करने वाले हैं.

मंगलवार को संसद के दोनों सदन और चार प्रांतीय एसंबेली मिलकर नए राष्ट्रपति का चुनाव करेंगे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)