दुबई बलात्कार की शिकार महिला रिहा हुई

  • 22 जुलाई 2013
दुबई
मार्टे डेबोरा डेलेव अब अपने देश जाने को स्वतंत्र हैं

दुबई बलात्कार विवाद का केंद्र रही नॉर्वे की महिला के अनुसार उन्हें माफी मिल गई है और वो अब वहां से चले जाने को स्वतंत्र हैं.

24 वर्षीय महिला मार्टे डेबोरा डेलेव पेशे से इंटीरियर डिजाइनर हैं. उनका कहना है कि जब वे मार्च में एक कारोबारी यात्रा के सिलसिले में दुबई आई थीं तभी उनके साथ बलात्कार की घटना हुई.

लेकिन जब उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई, तो उल्टे उन पर विवाहेत्तर संबध बनाने, शराब पीने और झूठी गवाही देने के आरोप लगाए गए और उन्हें 16 महीने की सजा सुना दी गई.

नॉर्वे सरकार का प्रयास

इस घटना पर मानवाधिकार समूहों और नॉर्वे के अधिकारियों ने अपना तीखा विरोध दर्ज कराया.

नॉर्वे के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि डेलेव को उनका पासपोर्ट वापस मिल गया है और उन्हें दुबई छोड़ कर जाने की इजाजत भी दे दी गई है.

उन्हें प्रत्यर्पित नहीं किया जा रहा है और उन्हें स्वदेश लौटने में कुछ और दिन लग सकते हैं.

डेलेव पिछले सप्ताह सजा सुनाए जाने के बाद से दुबई स्थित नॉर्वे सीमैन्स सेंटर में रह रही थीं. उन्हें सोमवार को सरकारी अभियोजक के साथ बातचीत में पता चला कि उन्हें रिहा कर दिया गया है.

नॉर्वे में, विदेश मंत्री इस्पेन बार्थ इद ने ट्वीट किया हैः “मार्टे छूट गई हैं! उन सबको शुक्रिया जिन्होंने उनकी रिहाई के लिए प्रयास किया.”

नॉर्वे की सरकार ने बताया कि वो डेलेव को सजा सुनाए जाने के बाद से ही कूटनीतिक और सरकारी संपर्कों के माध्यम से दुबई अधिकारियों के साथ संपर्क में थी. नॉर्वे की सरकार ने इस सज़ा को मानवाधिकारों का हनन बताया.

डेलेव ने अपनी सजा के बारे में पिछले हफ्ते सार्वजनिक तौर पर कई इंटरव्यू दिए थे.

विवाहेत्तर संबंध

दुबई
दुबई के कठोर कानूनों में इससे पहले भी कई बार विदेशी फँस चुके हैं.

डेलेव का कहना है कि 6 मार्च की रात जब उनके साथ बलात्कार हुई तो वो अपने कुछ साथियो के साथ बाहर थीं. उन्होंने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने उनका पासपोर्ट और पैसे जब्त कर लिए और चार दिन बाद उनके खिलाफ़ ही तीन मामले दर्ज़ कर लिए.

उन पर विवाहेत्तर संबंध रखने का आरोप भी लगाया गया.

उनके साथ कथित तौर पर बलात्कार करने वाले व्यक्ति को भी 13 महीने की सजा सुनाई गई. उस पर भी विवाहेत्तर सेक्स करने और शराब पीने का आरोप लगाया गया.

जिस व्यक्ति पर बलात्कार का आरोप लगा, वो डेलेव का एक सहकर्मी ही है.

नॉर्वे के अधिकारी ने कहा, “बलात्कार के अभियुक्त सहकर्मी को भी छोड़ दिया गया है.”

हाल के वर्षों में दुबई में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई कोशिश हुई हैं लेकिन फिर भी वहां रूढ़िवादिता बरकरार है. वहाँ के कठोर कानूनों में कई बार विदेशी फँस चुके हैं.

वहाँ सार्वजनिक स्थलों पर प्रेम प्रदर्शन और शराब पीने की अनुमति नहीं है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार