अमरीका में पारा पहुंचा 54 डिग्री, एक की मौत

  • 30 जून 2013
अमरीका में तपती गर्मी

पश्चिमी अमरीका में तपती हवाओं का कहर जारी है. लास वेगास में झुलसा देने वाली गर्मी से एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जबकि शरीर में पानी की कमी और अन्य समस्याओं से पीड़ित दर्जनों लोगों का इलाज किया जा रहा है.

अमरीका के कुछ इलाकों में पारा करीब 54 डिग्री के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुका है. कैलिफोर्निया के कुछ हिस्सों में शनिवार को रिकॉर्ड तापमान दर्ज किया गया.

अमरीका में तपती गर्मी

अधिकारियों को आशंका है कि गर्मी के कारण जंगलों में आग भी लग सकती है.

कैलिफोर्निया में पाल्म स्प्रिंग के रेगिस्तानी इलाकों सहित कई जगहों पर गर्मी रिकार्ड स्तर पर देखी गई.

लास वेगास और नेवादा में कम से कम 34 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

कई दिनों से पड़ रही लगातार गर्मी से जंगल में आग लगने जैसी आपदा की भी आशंका बढ़ गई है. शुक्रवार से ही दक्षिण पूर्व कैलिफॉर्निया और दक्षिणी एरिजोना के रेगिस्तान में गर्म लहरें चल रही हैं.

अमरीका में तपती गर्मी

तपती गर्मी से बचने के लिए कई लोग समंदर किनारे गीले बालू में ठंडक पा रहे हैं तो कई अमरीकी शहरों में कूलिंग सेंटर खोले जा रहे हैं.

इन कूलिंग सेंटरों में लोग पंखों के जरिए गर्मी से निजात पाने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन कई बाहर जाने के बजाय घर में ही रहने की कोशिश कर रहे हैं. इन गर्म हवाओं के सप्ताहांत तक चलने की उम्मीद है.

अमरीका में तपती गर्मी

अधिकारियों को आशंका है कि बढ़ती गर्मी से हवाई यात्राएं भी प्रभावित हो सकती हैं.

हालांकि ज़्यादातर बड़े विमान 52 डिग्री सेल्सियस तापमान में भी काम कर सकते हैं लेकिन उड़ान भरने की परिस्थितियों पर असर पड़ सकता है.

यूएस एयरवेज़ के प्रवक्ता का कहना है कि उनकी एयरलाइन फ़ीनिक्स में तापमान पर नज़र बनाए रखेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)