फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने जापान को कह डाला चीन

  • 8 जून 2013
फ्रांस राष्ट्रपति
जापान में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांड और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबी.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद इन दिनों जापान की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं. लेकिन वहाँ उन्हें कुछ अजीबोगरीब स्थिति से गुज़रना पड़ा.

हुआ यूं कि टोक्यो में हो रहे एक संवाददाता सम्मेलन में वे अल्जीरियाई बंधकों से जुड़े संकट का जिक्र कर रहे थे. जनवरी में इस संकट के चलते 10 जापानियों की मौत हो गई थी.

उन्होंने उन मृत जापानियों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर करते हुए कहा, “मैं फ्रांस की जनता की ओर से उन मृत 'चीनी' लोगों के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करता हूं.”

'जापान' की जगह 'चीन' कह देने के बावजूद उन्होंने रुक कर अपनी गलती नहीं सुधारी. हालांकि संवाददाता सम्मेलन में मौजूद अनुवादक ने राष्ट्रपति की गलती को फौरन सुधार दिया.

ठंडे रिश्ते

जापान और चीन के आपसी रिश्ते बेहद ठंडे रहे हैं. इतिहास पलट कर देखा जाए तो दोनों देशों के बीच कोई खास अच्छे संबंध नहीं रहे हैं.

दोनों देशों के बीच पहले से चले आ रहे उदासीन संबंधों में हाल के क्षेत्रीय विवादों से और तनाव पैदा हुआ है.

दोनों देशों के सर्वेक्षणों से यह बात सामने आई है कि जापान और चीन की जनता के आपसी रिश्तों में अविश्वास जड़ जमा चुका है. दोनों देशों की जनता अब एक दूसरे से अपनी राहें जुदा रखना चाहती है.

फ्रांसीसी राष्ट्रपति की गलती एक जापानी पत्रकार की नज़र में आ गई. उसने इसे तुरंत नोट किया.

यह बात महत्वपूर्ण है कि लंबे अरसे बाद फ्रांस के कोई राष्ट्रपति जापान की यात्रा पर है. पिछले 17 सालों में राष्ट्रपति ओलांद वे पहले फ्रांसीसी राष्ट्रपति होंगे जो जापान गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार