BBC navigation

न्यूयॉर्क में गगनचुंबी इमारतें बनाना आसान क्यों?

 मंगलवार, 11 जून, 2013 को 07:08 IST तक के समाचार

न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का टावर वन पिछले महीने पूरा हो गया. 541 मीटर ऊँचा ये टावर मैनहैटन की एक प्रमुख इमारत है और पश्चिमी दुनिया की गगनचुंबी इमारतों में सबसे ऊँचा.

आधुनिकता की प्रतीक और भविष्य की झलक लिए ये इमारत इस शहर के लिए उम्मीद की एक किरण जैसी भी है.

लेकिन इस नई गगनचुंबी इमारत की जड़ें एक पुरानी और विलुप्त हो गई दुनिया में हैं.

टावर वन ही नहीं बल्कि न्यूयॉर्क की तमाम दूसरी गगनचुंबी इमारतों की जड़ें भी पिछली दुनिया में हैं.

न्यूयॉर्क की लगभग सभी ऊँची-ऊँची इमारतें केवल दो इलाक़ों में पाई जाती हैं, डाउनटाउन जिसे न्यूयॉर्क की आर्थिक राजधानी कहा जाता है और मिडटाउन जहां एम्पायर स्टेट बिल्डिंग है.

प्लिमथ विश्वविद्यालय के भू-वैज्ञानिक प्रोफ़ेसर यान स्टीवर्ट ने 'बीबीसी-टू' के लिए एक डॉक्यूमेंट्री बनाई है जिससे न्यूयॉर्क के अतीत को समझने में काफ़ी मदद मिलती है.

पैनजिया

प्रोफ़ेसर स्टीवर्ट के अनुसार मैनहैटन के नीचे उसकी जड़ों में जो पत्थर हैं उसे मैनहैटन शिस्ट के नाम से जाना जाता है.

इन पत्थरों में पाए जाने वाले खनिज क्लिक करें अमरीका के प्राचीन इतिहास और मैनहैटन की गगनचुंबी इमारतों के राज़ को समझने में मदद करते हैं.

प्रोफ़ेसर स्टीवर्ट 'क्यानाइट' नाम के एक खनिज के बारे में शोध कर रहे थे.

उनके अनुसार, ''मैनहैटन में हर जगह दिखने वाला नीले रंग का ये खनिज ज़मीन के अंदर बहुत गहराई में अत्यधिक दबाव में बनता है. ये खनिज एक फ़िगर प्रिंट की तरह है जिससे ढेर सारी जानकारियां मिलती हैं.''

इस खनिज की मौजूदगी से पता चलता है कि लगभग 30 करोड़ वर्ष पहले मैनहैटन शिस्ट का निर्माण हुआ था. उनके अनुसार दो बड़े भू-भाग एक साथ मिल गए थे जिसके कारण 'पैनजिया' नाम के एक सुपर महाद्वीप का निर्माण हुआ था.

जब दोनों भू-भाग मिले तो उनके किनारे के पत्थर एक साथ जुड़कर पहाड़ की तरह ऊपर उठ गए. मैनहैटन शिस्ट इस नई पर्वत शृंखला में 13 किलोमीटर नीचे दबा हुआ था.

सख़्त धरातल

लगभग 10 करोड़ वर्ष बाद पैनजिया महाद्वीप टूट कर अलग-अलग दिशाओं में जाने लगा और इस तरह मौजूदा महाद्वीपों का निर्माण हुआ.

इस विभाजन के बाद पैनजिया का एक हिस्सा वहीं रह गया जिसके ऊपर आज मैनहैटन बसा हुआ है.

इसलिए मैनहैटन के नीचे दबा पत्थर काफ़ी सख़्त है और इसकी सतह भी काफ़ी सख़्त है और यही सख़्त धरातल न्यूयॉर्क की गगनचुंबी इमारतों के लिए एक बेहतरीन बुनियाद का काम करते हैं.

डाउनटाउन और मिडटाउन के नीचे यही सख्त पत्थर पाए जाते हैं जिनके कारण इन इलाक़ों में गगनचुंबी इमारतें बनाना आसान है.

क्लिक करें न्यूयॉर्क में ही दूसरी जगहों पर उतनी ऊँची इमारत बनाना संभव नहीं क्योंकि वहाँ के नीचे के पत्थर उतने सख्त नहीं हैं और वहाँ की ज़मीन ऊँची इमारतों का बोझ नहीं उठा सकती.

ये भी कितने आश्चर्य की बात है कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का टावर वन जो कि न्यूयॉर्क की गगनचुंबी इमारतों की सबसे ताज़ा मिसाल है, और जो आधुनिक दुनिया की एक पहचान है उसकी जड़ें एक प्राचीन और खोई हुई दुनिया में हैं.

(क्लिक करें बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए आप क्लिक करें यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर क्लिक करें फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.