भित्ती चित्र ख़राब करने पर चीनी किशोर को इंटरनेट पर लताड़

  • 27 मई 2013
egypt graffiti
मिस्र के लक्सर में ऐतिहासिक भित्ती चित्र पर चीनी किशोर ने अपना नाम उकेर दिया था

मिस्र में एक ऐतिहासिक भित्तीचित्र को ख़राब करने वाले चीनी किशोर के माता पिता ने अपने बेटे की हरकत के लिए माफ़ी मांगी है.

इंटरनेट पर किशोर की पहचान ज़ाहिर हो जाने और कड़ी आलोचना के बाद उन्होंने क्षमायाचना की.

मिस्र के लक्सर में स्थित एक मंदिर के एक भित्तीचित्र की तस्वीर शुक्रवार को एक ब्लॉगर ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट पर डाली थी.

इस भित्तीचित्र पर चीनी में लिखा गया था, “डिंग जिन्हाओ यहां आया था.”

माना जाता है कि नील नदी के तट पर स्थित लक्सर के विशाल मंदिर 3500 साल पुराने हैं.

भारी दबाव

ब्लॉगर की इस हरकत से नाराज़ इंटरनेट प्रयोगकर्ताओं ने उस किशोर ब्लॉगर को ढूंढ निकाला और उसकी जन्मतिथि और स्कूल के बारे में जानकारी इंटरनेट पर डाल दी.

इसके बाद किशोर की मां ने एक स्थानीय अख़बार को कहा कि वह अपने बेटे की हरकत के लिए शर्मिंदा हैं.

शनिवार को एक स्थानीय अख़बार मॉडर्न एक्सप्रेस को दिए साक्षात्कार में डिंग की मां ने कहा, “हम मिस्र के लोगों और पूरे चीन में उन लोगों से माफ़ी मांगते हैं जिन्हें इस मामले से बुरा लगा है.”

उन्होंने कहा कि उनके पुत्र ने जब ये हरकत की थी तब वह काफ़ी छोटा था और अब वह इस मामले की गंभीरता को समझता है.

डिंग जिन्हाओ के पिता ने लोगों से आग्रह किया है कि वे उनके बेटे को अकेला छोड़ दें क्योंकि वो इतना दबाव झेल नहीं पाएगा.

मिस्र के लक्सर मंदिर

अख़बार ग्लोबल टाइम्स के अनुसार किशोर की पहचान ज़ाहिर होने के बाद उसके प्राथमिक विद्यालय की वेबसाइट को हैक कर लिया गया था.

अब वह किशोर एक माध्यमिक विद्यालय में पड़ता है.

छवि ख़राब

चीनी इंटरनेट प्रयोगकर्ताओं द्वारा ऐसे लोगों की निजी जानकारी सार्वजनिक किए जाने का यह एक और मामला है, जिन्होंने कथित रूप से कुछ ग़लत किया है.

हाल ही के कुछ महीनों में कई अधिकारियों को माइक्रो ब्लॉग्स पर उनकी निजी जानकारी सार्वजनिक किए जाने की वजह से शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है.

पिछली 17 मई को ही चीन के चार उप- प्रधानमंत्रियों में से एक वांग यांग ने कहा था कि कुछ चीनी पर्यटकों के “अशोभनीय बर्ताव” की वजह से देश की छवि ख़राब हो रही है.

संयुक्त राष्ट्र पर्यटन संगठन का कहना है कि चीन दुनिया में पर्यटन पर ख़र्च करने वाला सबसे बड़ा स्रोत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार