अमरीकी अपील्स कोर्ट में भारतीय मूल का पहला जज

  • 25 मई 2013
श्रीकांत श्रीनिवासन
श्रीकांत श्रीनिवासन का जन्म चंडीगढ़ में हुआ था.

भारत के चंडीगढ़ में जन्मे अमरीकी नागरिक श्रीकांत श्रीनिवासन ने उस समय इतिहास रच दिया जब उनको अमरीका के अपील्स कोर्ट के जज के तौर पर नियुक्ति के लिए अमरीकी सीनेट में मंज़ूरी मिल गई.

अमरीका में सुप्रीम कोर्ट के बाद अपील्स कोर्ट सबसे बड़ी अदालत होती है.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने श्रीकांत श्रीनिवासन को जज के लिए नियुक्त किया था. सीनेट में उनको 97 मतों से मंज़ूरी मिली.

(' 30 सेकेंड में होगा मोबाइल चार्ज')

जिस पद पर श्रीकांत श्रीनिवासन को नियुक्त किया गया है इसी पद के लिए पहले बराक ओबामा द्वारा नियुक्त एक अन्य उम्मीदवार कैटलिन हैलिगन की मंज़ूरी कोसीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटरों द्वारा ब्लाक कर दिया गया था.

'बेहतरीन वकील'

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने श्रीकांत श्रीनिवासन को सीनेट में मंज़ूरी मिलने के बाद कहा, " मैं बहुत खुश हूं कि सीनेट ने सर्वसम्मति से श्रीकांत श्रीनिवासन को जज के पद के लिए मंज़ूर कर दिया है. श्रीकांत दो दशकों तक बेहतरीन वकील रहे हैं."

इससे पहले श्रीनिवासन ओबामा प्रशासन में उप सॉलिसिटर जनरल के पद पर काम कर रहे थे. और उन्होंने अमरीकी सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कई केसों की पैरवी की है. जिनमें सबसे चर्चित मामला था सुप्रीम कोर्ट में विवाह की परिभाषा से संबंधित मामला जिसकी श्रीनिवासन ने बखूबी पैरवी की थी.

( भारतीय जासूस जो पाक सेना की सीढ़ियां चढ़ता गया)

कई पूर्व सॉलिसिटर जनरल, जिनमें कई उनके साथ काम कर चुके हैं, ने सीनेट की कानूनी मामलों की समिति को श्रीकांत श्रीनिवासन को जज नियुक्त किए जाने की हिमायत में पत्र भी लिखा था.

भारत से नाता

श्रीकांत श्रीनिवासन का परिवार 1960 के दशक में भारत से अमरीका के कैलीफ़ोर्निया राज्य के बर्कली शहर में आकर बसा था.

श्रीकांत श्रीनिवासन अपने परिवार के साथ
श्रीकांत श्रीनिवासन अपने बच्चों विक्रम और माया के साथ.

उनके पिता टीपी श्रीनिवासन कैनसस विश्वविद्यालय में गणित के प्रोफ़ेसर बन गए औऱ परिवार कैंसस राज्य के लॉरेंस शहर में आकर बस गया. उनकी मां सरोजा श्रीनिवासन भी शहर की कला संस्थान में कला पढाती थीं.

( तस्वीरों में: सुनीता अंतरिक्ष की ओर)

23 फ़रवरी 1967 में जन्मे श्रीकांत श्रीनिवासन को भारतीय खाना बहुत पसंद है. खासकर नान और नवरतन क़ोरमा वह बहुत शौक से खाते हैं. वह और उनकी पत्नी कार्ला गैरट वर्जीनिया राज्य के आर्लिंगटन शहर में रहते हैं.

बास्केटबॉल के शौकीन

लॉरेंस शहर में श्रीकांत श्रीनिवासन ने अपनी स्कूली पढ़ाई पूरी की. स्कूल में वह बास्केटबॉल के बहुत अच्छे खिलाड़ी रहे हैं.

वर्ष 1995 में उन्होंने स्टेनफ़र्ड विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की.

( भारतीय मूल के वेंकटरामन को नोबेल सम्मान)

श्रीकांत श्रीनिवासन ने स्टेनफ़र्ड विश्वविद्यालय से ही एमबीए की भी डिग्री हासिल की है.

साल 1995 में श्रीनिवासन ने अपने वकालत के करियर की पहली नौकरी फ़ोर्थ सर्किट अपील्स कोर्ट में जज हार्वी विल्किंसन के क्लर्क के तौर पर की.

उन्होंने हार्वर्ड लॉ स्कूल में शिक्षक के रूप पर भी काम किया है.

जॉर्ज डब्ल्यू बुश प्रशासन में उन्होंने अमरीकी कानून मंत्रालय में वकील की हैसियत से काम किया और उन्हें 2003 में राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बेहतरीन काम करने के लिए अटर्नी जनरल अवार्ड से सम्मानित किया गया.<span >

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)