BBC navigation

शिया इलाक़ों में धमाके, 23 की मौत

 गुरुवार, 16 मई, 2013 को 05:27 IST तक के समाचार

इराक़ में राजधानी बग़दाद के शिया बहुल इलाक़ों में हुए बम धमाकों में कम से कम 23 लोग मारे गए हैं. पुलिस का कहना है कि एक घंटे के अंदर 11 बम धमाके हुए.

जो ज़िले क्लिक करें धमाकों का शिकार हुए उनमें सदर सिटी, कधिमिया, मशतल और अल हुसैनिया शामिल हैं.

सदर सिटी में एक पुलिसकर्मी ने एएफपी को बताया, "मैने तेज़ रोशनी देखी जिसके बाद ज़ोर का धमाका हुआ. इसके बाद इमारत के शीशे बिखर गए. लोग यहाँ आकर घायलों और मृतकों को ले जाने लगे."

किरकुक में हुए विस्फोटों में भी कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है. अधिकारियों के मुताबिक बग़दाद के पास तारमिया ज़िले में भी पुलिस के गश्ती दल पर आत्मघाती हमला हुआ जिसमें दो पुलिसकर्मी मारे गए.

शिया-सुन्नी हिंसा

क्लिक करें इराक़ में पिछले कुछ हफ्तों में जातीय हिंसा में तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है. शिया नेतृत्व वाली सरकार और अल्पसंख्यक सुन्नियों के बीच तनाव का माहौल है.

सुन्नी समुदाय का आरोप है कि प्रधानमंत्री नूरी मलिकी की शिया नेतृत्व वाली सरकार में उन्हें नज़रअंदाज़ कर दिया गया है.

अप्रैल में 700 से ज़्यादा इराक़ी मारे गए हैं जिसमें शिया और सुन्नी दोनों शामिल हैं.

पाँच महीने पहले इराक़ के सुन्नी इलाक़ों में विरोध प्रदर्शन हुए थे जिसके बाद किरकुक प्रांत के हविजा में 23 अप्रैल को शिया प्रधानमंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने बड़ी संख्या में सुन्नी प्रदर्शनकारियों को मार दिया था.

हविजा की घटना के बाद इराक़ में हिंसा और बढ़ी है. आशंका जताई जा रही है कि 2006 से लेकर 2007 में हुई जातीय हिंसा का दौर फिर लौट सकता है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें क्लिक करें क्लिक करें. बीबीसी हिंदी क्लिक करें क्लिक करें फेसबुक और क्लिक करें क्लिक करें ट्विटर आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.