BBC navigation

सीरिया के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में उभरे मतभेद

 मंगलवार, 7 मई, 2013 को 03:37 IST तक के समाचार
कार्ला डेल पोंटे

संयुक्त राष्ट्र ने कार्ला डेल पोंटे के बयान से किनारा किया.

संयुक्त राष्ट्र की जांच टीम ने कहा है कि उसे इस बात के कोई पुख़्ता सबूत नहीं मिले कि सीरिया के गृहयुद्ध में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल हो रहा है.

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र की वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि उन्हें इस बात के साक्ष्य मिले हैं कि सीरिया में विद्रोही रासायनिक हथियारों का प्रयोग कर रहे हैं.

उधर अमरीका में व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्नी ने भी कहा है क अमरीकी प्रशासन के पास डेल पोंटे के दावों पर यक़ीन करने की कोई वजह नहीं है.

युद्ध अपराधों की पूर्व अभियोजक कार्ला डेल पोंटे ने कहा था कि पीड़ितों और डॉक्टरों के बयानों से इस बात को मज़बूती मिली है कि विद्रोही सरीन नाम की नर्व गैस का प्रयोग कर रहे हैं. हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया था कि ये 'निर्विवाद सबूत' नहीं है.

कार्ला डेल पोंटे संयुक्त राष्ट्र के एक अंतरराष्ट्रीय जांच आयोग की वरिष्ठ सदस्य हैं जिसका गठन अगस्त 2011 में सीरिया में मानवाधिकारों के उल्लंघन की जांच के लिए किया गया था. ये आयोग अगले महीने अपने रिपोर्ट पेश करने वाला है.

'अकाट्य सबूत नहीं'

" मैंने एक रिपोर्ट देखी है जिसमें रसायनिक गैस के प्रयोग के मज़बूत और पुख़्ता सबूत हैं हालांकि ये पूरी तरह से अकाट्य नहीं हैं. मैं तो शुरूआत में बिल्कुल चकित रह गई. रिपोर्ट कह रही थी कि ये प्रयोग शायद विद्रोहियों ने किए हैं."

कार्ला डेल पोंटे, सीरिया पर अंतरराष्ट्रीय जांच आयोग की आयुक्त

कार्ला डेल पोंटे ने एक टीवी चैनल को बताया था कि सीरिया में रासायनिक हथियारों के प्रयोग के 'मज़बूत और पुख़्ता सबूत मिले हैं लेकिन ये साक्ष्य निर्विवाद नहीं हैं.'

उन्होंने कहा था कि वो इस संभावना से इंकार नहीं कर सकतीं कि रासायनिक हथियारों का प्रयोग सरकारी सेनाओं ने भी किया हो.

लेकिन इसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने ज़ोर देकर कहा कि उनकी जांच किसी 'निर्णायक नतीजे पर नहीं पहुंची है.'

संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय आयोग ने बयान जारी कर कहा, "इसी वजह से आयोग सीरिया में रासायनिक हथियारों के प्रयोग के आरोपों पर, इस समय कुछ कहने की स्थिति में नहीं है. "

संयुक्त राष्ट्र को ये स्पष्टीकरण इसलिए देना पड़ी क्योंकि उसी के अंतरराष्ट्रीय आयोग की आयुक्त डेल पोंटे ने एक टीवी चैनल को रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के संकेत मिलने की बात कही थी.

जिनेवा में बीबीसी संवाददाता इमोगन फ़ॉक्स कह रही हैं कि संयुक्त राष्ट्र का बयान इतना स्पष्ट था कि मानो वो डेल पोंटे के वक्तव्य ने हैरान हों.

डेल पोंटे ने कहा था, "मैंने एक रिपोर्ट देखी है जिसमें रासायनिक गैस के प्रयोग के मज़बूत और पुख़्ता सबूत हैं हालांकि ये पूरी तरह से अकाट्य नहीं हैं. मैं तो शुरुआत में बिल्कुल चकित रह गई. रिपोर्ट कह रही थी कि ये प्रयोग शायद विद्रोहियों ने किए हैं. "

लेकिन सीरियाई विद्रोहियों ने डेल पोंटे के आरोपों का पुरज़ोर खंडन किया है. सीरिया में विपक्षी सीरियन नेशनल काउंसिल के सदस्य मूलहाम अल दरूबी ने कहा है कि ये आधारहीन बयान है.

मूलहाम अल दरुबी ने कहा, "ये दावा आधारहीन है. इस बयान का कोई सबूत नहीं है. सही सबूत वो होगा जो बताए कि इनका प्रयोग कहां, किस समय हुआ है. और साथ ही हमारे पास चश्मदीद होने चाहिएं...निष्पक्ष चश्मदीद"

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.