बॉस्टन धमाके: ज़ोख़र को मौत की सज़ा संभव

  • 23 अप्रैल 2013
बॉस्टन धमाके में तीन लोग मारे गए और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं

बॉस्टन मैराथन धमाकों के संदिग्ध ज़ोख़र सारनाएफ़ पर आरोप तय हो गए है. ज़ोख़र को गले में चोट लगने की वजह से वे बोल नहीं पा रहे हैं लेकिन ऐसी खबरें हैं कि उन्होंने लिखित रुप में पूछे गए सवालों का जवाब दिया है.

अमरीकी न्याय मंत्रालय का कहना है कि ज़ोख़र सारनाएफ़ पर बड़े विनाश के हथियार इस्तेमाल करने का आरोप लगाए गए हैं.

ज़ोख़र सारनाएफ़ फ़िलहाल अस्पताल में भर्ती है और उन्हें मौत की सज़ा दी जा सकती है.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने कहा है कि सारनाएफ़ को एक 'शत्रु सैनिक' की तरह नहीं देखा जाएगा, जिसका कुछ कांग्रेस के रिपब्लिकन सदस्यों ने सुझाव दिया था.

पिछले सोमवार बॉस्टन में मैराथन में हुए धमाकों में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 200 से ज़्यादा घायल हुए थे.

'बड़े विनाश के हथियार'

गुरुवार को इन दोनों भाइयों को पकड़ने के लिए चलाए गए 24 घंटे के अभियान में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई और एक परिवहन अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गया था.

इस अभियान में ज़ोखर का भाई मारा गया था और शुक्रवार को उसे भी पकड़ लिया गया था.

न्याय मंत्रालय ने अपने एक वक्तव्य में कहा है कि ज़ोख़र ने न केवल 'बड़े विनाश के हथियारों' का इस्तेमाल किया बल्कि उन्होंने संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जिसकी वजह से मौत भी हुई.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्ने का कहना था, ''उन्हें एक शत्रु सैनिक नहीं समझा जाएगा और हम इस आतंकवादी पर न्याय की नागरिक प्रणाली के तहत मुकदमा चलाएंगे.''

संबंधित समाचार