BBC navigation

मारग्रेट थैचर की चार घंटे की जादुई नींद

 गुरुवार, 11 अप्रैल, 2013 को 07:32 IST तक के समाचार
मारग्रेट थैचर की नींद

माना जाता है कि मारग्रेट थैचर की अलौकिक क्षमताओं के पीछे उनकी चार घंटे की नींद है.

मारग्रेट थैचर के बारे में मशहूर है कि वे मात्र क्लिक करें चार घंटे ही सोती थीं. सवाल है कि क्या इतने कम घंटे सोकर कोई इतना सक्रिय और कामयाब बन सकता है?

अथक परिश्रम उनके जादुई व्यक्तित्व का हिस्सा रही. वे अपने कार्यालय के अधिकारियों के साथ रात के दो या तीन बजे तक काम करतीं और अगली ही सुबह ‘फार्मिंग टुडे’ सुनने के लिए पांच बजे उठ जाती.

क्लिक करें मारग्रेट थैचर के करीबी दोस्त और कंजर्वेटिव पार्टी के पूर्व कोषाध्यक्ष लॉर्ड मैक अल्पाइन कई बार छुट्टियों में उनके साथ होते थे. मैक बताते हैं, “पूरे क्रिसमस वह काम करती रही. जब दूसरे लोग सोने जाते, वे किसी न किसी तैयारी में लगी होती थीं.”

थैचर की जीवनी ‘द आयरन लेडी’ के लेखक जॉन कैम्पबेल बताते हैं कि रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने की उनकी आदत ने उन्हें दुनिया का सबसे जानकार इंसान बनाया.

सो जाओ!

" “एक आदमी छह घंटे सोता है, औरत सात और मूर्ख आठ घंटे सोते हैं.”"

नेपोलियन बोनापार्ट

कभी कभी पति डेनिस भी चिल्लाते थे, “थैचर, सोने जाओ!” कहा जाता है कि किसी मौके पर ऐसे ही बात पर वे थैचर पर बरस पड़े थे.


सोने में कंजूसी करने की थैचर की ये आदत उनके उत्तराधिकारी जॉन मेजर के लिए सिरदर्द बन गई है. कैम्पबेल बताते हैं, “जॉन को रात भर काम करने वाले प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारियों के साथ काम करने में दिक्कत आ रही है. जॉन मेजर को आठ घंटे सोना पसंद था.”

कौन नेता कितना सोता है, इससे उसके व्यक्तित्व का पता चलता है. जब नेपोलियन बोनापार्ट से पूछा गया कि किसी इंसान को कितने घंटे सोना चाहिए, तो उनका जवाब था, “एक आदमी छह घंटे सोता है, औरत सात और मूर्ख आठ घंटे सोते हैं.”

मारग्रेट थैचर की चार घंटे की क्लिक करें नींद एक तमगा थी जो उनकी अलौकिक क्षमताओं का कारण मानी जाती थी. 'द टाइम्स' मैगजीन में मैथ्यू पेरिस ने उन्हें एक ‘योद्धा’ का दर्जा दिया है.

मैथ्यू पेरिस ‘द टाइम्स’ में लिखते हैं, “उन्हें पता था कि जीवन एक युद्ध है, जबकि दूसरे ऐसा नहीं समझते. और युद्ध में एक योद्धा की ही जरूरत होती है.”

एक झपकी नहीं

मारग्रेट थैचर की नींद

सोने में कंजूसी करने की थैचर की ये आदत उनके वारिस जॉन मेजर के लिए सिरदर्द बन गई.

चर्चिल पूरे युद्ध के दौरान चार घंटे ही सोते थे. पर कहा जाता है कि दोपहर में वे क्लिक करें एक झपकी जरूर लेते थे. मगर लेडी थैचर दोपहर को झपकी लेने वालों में से नहीं थी.

इंगहाम का कहना है, “ना, वे कभी ऊंघती भी नहीं थीं.”

क्या एक आम इंसान को इस चार घंटे की नींद से प्रेरणा लेने की जरूरत है? नहीं. मगर उद्योग जगत में कुछ लोग बेशक ऐसी ही नींद की कामना करते हैं.

याहू के हाई प्रोफाइल मुख्य कार्यकारी अधिकारी मरिसा मेयर से लेकर पेप्सी की इंदिरा नूई चार घंटे की नींद लेती हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रम्प का दावा है कि वे बस तीन घंटे ही सोते हैं.

लाबॉरो विश्वविद्यालय में नींद पर अनुसंधान करने वाले प्रोफेसर केविन मार्गन के अनुसार सोने का कोई निश्चित घंटा नहीं होता. एक ही तरीका है कि उतने घंटे सोए जिससे जगने पर आप खुद को तरोताजा महसूस कर सके.

मार्गन मानते हैं कि मारग्रेट थैचर सहित केवल एक प्रतिशत लोग ही मात्र चार घंटे की नींद लेकर पूरे दिन सक्रिय रहते हैं.

थकी-मांदी आंखें

मारग्रेट थैचर की नींद

मारग्रेट थैचर की कम नींद उनके पति के लिए कोई समस्या नहीं थी.

लाबॉरो विश्वविद्यालय में ही नींद पर रिसर्च करने वाले एक और प्रोफेसर जेम्स हार्न कहते हैं, “सबसे महत्वपूर्ण होता है, व्यक्ति का मूड. अगर काम आपकी पसंद का है तो कम सोकर भी आप काम पूरा करते है. इसके विपरीत यदि बोरिंग काम है तो नींद ज्यादा आती है.”

प्रोफेसर जेम्स का कहना है, “मारग्रेट थैचर के साथ भी यही फार्मूला लागू होता है.”

पेरिस 1970 के दशक के दौरान थैचर के साथ काम कर चुके हैं. वे याद करते हुए कहते हैं कि क्लिक करें मजबूत शख्सियत की मालकिन थैचर भी अक्सर थकी दिखाई देती थी.

क्लिक करें पेरिस कहते हैं, “जब हम सब लॉबी में थक कर रेस्ट ले रहे होते थे, मैं उनसे थोड़ी ही दूर बैठा होता था. अक्सर उनकी आंखें बेहद थकी दिखाई देती थीं.”

काम और जीवन में संतुलन ढूंढ़ लिया गया है, 10 नंबर में भी. ब्लेयर थैचर और ब्राउन से ज्यादा सोते हैं मगर रात में अपने बच्चे लियो के लिए जगते भी हैं. जार्ज डब्लू बुश बिल क्लिंटन के मुकाबले रात के 10 बजे तक बिस्तर में होते थे.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.