BBC navigation

कैसा होगा ब्रिक्स विकास बैंक?

 बुधवार, 27 मार्च, 2013 को 14:40 IST तक के समाचार
चिदंबरम

दक्षिण अफ्रीका में दो दिन का ब्रिक्स सम्मेलन जारी है. (फाईल फोटो)

भारत के वित्त मंत्री पी चिदंबरम का कहना है कि ब्रिक्स देशों द्वारा विचाराधीन विकास बैंक का मकसद नकदी की समस्या से जूझने वाले देशों की मदद होगा.

विश्व की तेज़ी से उभर रही आर्थिक ताकतें यानी 'ब्रिक्स' दक्षिण अफ्रीका में क्लिक करें दो दिन के सम्मेलन में 'विकास बैंक' की योजना पर चर्चा कर रहे हैं.

भारत सहित ब्राज़ील, रुस, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेता डर्बन में दो दिन के सम्मेलन के लिए जुटे हैं जहां उन तरीकों को ढूंढने पर भी चर्चा हो रही है जिनसे इन देशों के धीमे हो रहे विकास को सुधारा जा सके.

बीबीसी से बातचीत में वित्त मंत्री ने कहा, ''जो सामने आने वाला है वो यह है कि अपने और बाकी बाज़ारों के विकास के लिए ब्रिक्स देश अपनी कार्य सूची तय करने के लिए दृढ़ संकल्प कर चुके हैं. ब्रिक्स विकास बैंक इन योजनाओं में से एक है.''

उन्होंने कहा, ''हम अब एक बैंक में पूंजी लगा सकते हैं. हम बैंक के लिए संसाधन जुटा सकते हैं और हम अपनी मदद स्वंय कर सकते हैं और साथ ही दूसरे देशों की भी.''

'किसी संस्था का विकल्प नहीं'

"हम बैंक के लिए संसाधन जुटा सकते हैं और हम अपनी मदद स्वंय कर सकते हैं और साथ ही दूसरे देशों की भी."

पी चिंदबरम, वित्त मंत्री, भारत

वित्त मंत्री ने कहा कि यह बैंक अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी आईएमएफ जैसी संस्थाओं का विकल्प नहीं होगा.

पी चिदंबरम ने कहा, ''यह आकस्मिक प्रबंध उन देशों की तीन से 12 महीनों की सहायता के लिए है जो नकदी की समस्या से जूझ रहे हैं. यह बाकि संस्थाओं का विकल्प नहीं है.''

उन्होंने कहा, ''इसलिए यह एक नकदी सहायता तंत्र है जो ब्रिक्स देश एक दूसरे की मदद के लिए बना रहे हैं जो नकदी की समस्या का सामना कर रहे हैं.''

उधर सभी पांच देशों के वित्त मंत्रियों की बैठक के बाद चिदंबरम ने पीटीआई समाचार एजेंसी से कहा, ''हम सभी देशों के प्रमुखों से कह रहे हैं कि यह बैंक आर्थिक तौर पर संभव है.''

इस सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सोमवार को डरबन पहुंचे थे.

सम्मेलन में मनमोहन सिंह पहली बार चीन के नए राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलेंगे.

वित्त मंत्री पी चिदंबरम के अलावा इस शिष्टमंडल में वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिव शंकर मेनन भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.