BBC navigation

इस रोल्स रॉयस में 624 घोड़ों की ताकत है

 बुधवार, 6 मार्च, 2013 को 08:27 IST तक के समाचार

रॉल्स रॉयल की सबसे शक्तिशाली कार धमाल मचाने को है तैयार

क्लिक करें रोल्स रॉयस ने अपनी कार का सबसे महंगा और शानदार मॉडल जेनेवा मोटर शो के दौरान पेश किया है.

रोल्स रॉयल रेथ नाम के इस मॉडल का इंजन 624 हॉर्स पावर का है. इंजन स्टार्ट होने के 4.4 सेकेंड के अंदर कार की रफ़्तार शून्य से सौ किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है.

माना जा रहा है कि साल के अंत तक ये कार बाज़ार में बिक्री के लिए उपलब्ध होगी. तब इसकी कीमत तीन लाख डॉलर (करीब 1.5 करोड़ रुपए) होगी.

रोल्स रॉयस को भरोसा है कि इस कार को बाजार में काफी पसंद किया जाएगा. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टोर्सटन मुलर ओटवोस ने बीबीसी को बताया, “मुझे भरोसा है कि ये कई कार ढेरों नए ग्राहकों को हमसे जोड़ेगी.”

बेंटले को टक्कर

"मुझे इस पर कोई अचरज नहीं होगा कि बेंटले के कुछ संभावित ग्राहक रेथ को खरीदेंगे क्योंकि बेंटले अब एक्सक्लूसिव कार नहीं रह गई है."

टोर्सटन मूलर ओटवोस, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, रॉल्स रॉयस

जेनेवा में जब इस कार को प्रदर्शित किया गया तो देखने वाले लोगों को इससे बेंटले के कांटीनेंटल जीटी ग्रैंड कूपे की याद आ गई.

लेकिन मुलर ओटवोस इससे ज़्यादा चिंतित नहीं हैं. उन्होंने कहा, “कांटीनेंटल को मैं प्रतिस्पर्धी कार के तौर पर नहीं देखता, क्योंकि इस कार की कीमत तीन लाख डॉलर से शुरू हो रही है जो कीमतों के लिहाज से अलग वर्ग है.”

हालांकि ओटवोस को उम्मीद है कि रेथ बेंटले के ग्राहकों को भी अपनी ओर आकर्षित कर लेगा. उन्होंने कहा, “मुझे इस पर कोई अचरज नहीं होगा कि बेंटले के कुछ संभावित ग्राहक रेथ खरीदेंगे क्योंकि बेंटले अब एक्सक्लूसिव कार नहीं रह गई है.”

बेंटले के सेल्स और मार्केटिंग विभाग के प्रमुख स्टुअर्ट रोस ने भी माना है कि दोनों कारों में किसी तरह की होड़ नहीं है क्योंकि बेंटले की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार करीब 1.95 लाख डॉलर( करीब एक करोड़ रुपए) से शुरू होती है.

स्टुअर्ट रोस ने बीबीसी को बताया, “दोनों कारें एक कीमत वाली कैटेगरी में नहीं हैं. इसके अलावा एक बात और है, हमारे या उनके उपभोक्ताओं में प्रत्येक के पास छह से सात कारें होती हैं, इसलिए लोग दोनों कार रख सकते हैं.”

बिक्री बढ़ने की उम्मीद

हालांकि वे इस बात पर जरूर अचरज में आ गए हैं कि रोल्स रॉयस के लोगों ने बेंटले को लग्ज़री कार नहीं माना है. वे कहते हैं, “वे सोचते हैं कि बेंटले लग्ज़री कार नहीं है, यह सुनकर मैं हैरत में हूं.”

हालांकि बेंटले ने रोल्स रॉयल की टक्कर की कार लाने की तैयारी शुरू कर दी है. माना जा रहा है कि नई फ्लाईंग स्पॉर रोल्स रॉयस रेथ को टक्कर दे सकती है.

स्टुअर्ट रोस ने बीबीसी को बताया, "लेकिन हम दोनों कारों की ज़्यादा तुलना नहीं कर सकते. हमारी प्रतिस्पर्धा दोस्ताना स्तर की है. वे अल्ट्रा लग्जरी कारों में अच्छा कर रहे हैं जबकि हम अपनी श्रेणी में सबसे बेहतर हैं.”

रॉल्स रॉयस के नए मॉडल की कार से बेंटले को टक्कर मिलने की उम्मीद

वैसे बाज़ार में बेंटले रोल्स रॉयस के मुक़ाबले कहीं ज़्यादा बिक रही है. बीते साल दुनिया भर में बेंटले की 8,510 कारें बिकी हैं, जबकि रोल्स रॉयस की 3,575 कारें बिकी हैं.

पिछले कुछ महीनों के दौरान भी बेंटले की कार ज़्यादा बिक रही हैं. पिछले साल बेंटले की बिक्री में 22 फ़ीसदी का इजाफा हुआ है, जबकि 2011 में बेंटले की बिक्री में 37 फ़ीसदी का इजाफा दर्ज हुआ है.

अल्ट्रा लग्ज़री कार

दूसरी ओर बीएमडब्ल्यू समूह की कार रोल्स रॉयस की बिक्री इस साल महज एक फ़ीसदी बढ़ी है. जबकि 2011 में रोल्स रॉयस की बिक्री में 31 फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी देखी गई थी और 2010 में इस क्लिक करें कार की बिक्री में 150 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज हुई थी.

हालांकि मुलर ओटवोस रोल्स रॉयस रेथ के भविष्य को लेकर निश्चिंत हैं. उनके मुताबिक दुनिया भर में अमीर लोगों की संपत्ति बढ़ी है और वे अल्ट्रा लग्ज़री कार खरीदने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं.

ओटवोस के मुताबिक रेथ की वजह से रोल्स रॉयस के प्रति लोगों का नजरिया बदलेगा.ओटवोस ने कहा, “सामान्य तौर पर जब हम कोई नया मॉडल बनाते हैं तो हमारा ध्यान ब्रांड की खासियतों को बढ़ाना होता है.”

ओटवोस के मुताबिक फरारी की स्पोर्ट्स कार चलाना पसंद करने वाले लोग भी रेथ जैसी जेंटलमैन कार की तरफ़ आकर्षित होंगे.

वैसे ये तय है कि अब तक रोल्स रॉयस की फैंटम और घोस्ट जैसे मॉडल की आलीशान कार पसंद करने वाले उपभोक्ताओं को रेथ के तौर पर नया विकल्प मिल गया है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.