पब में ‘नन’ : पिलाने वाले पर जुर्माना

  • 23 फरवरी 2013
पिस्टोरिया में नकली ननों को गैरकानूनी ढंग से शराब पिलाने पर पब मालिक पर जुर्माना किया गया है

एक आयरिश पब मालिक पर गैरकानूनी रूप से ‘ननों’ को शराब पिलाने के लिए मुक़दमा चलाया जा रहा है. हालांकि ये सभी ‘नन’ नकली थीं.

लिस्टोवेल में पुलिस ने क्रिस्टी वॉल्श के बार पर एक ही रात में 2 बार छापा मारा. उस पर कुल मिलाकर 700 यूरो का जुर्माना किया गया.

क्या है ये मामला

30 जून 2012 को लिस्टोवेल में एक चैरिटी शो ‘ननडे’ का आयोजन किया गया था.

इसका मकसद, खुदकुशी और खुद को नुकसान पहुंचाने, के प्रति जागरूकता फैलाने वाले संगठन ‘पीटा हाउस’ की मदद के लिए धन जुटाना था.

कुल मिला कर 1436 वयस्कों ने इस काम के लिए पूरी तरह ननों वाले कपड़े पहने.

ये सभी जीएए खेल मैदान में इकट्ठे हुए जहां गिनीज़ बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए उनकी गिनती की गई.

क्रिस्टी वॉल्श ननडे की आयोजन समिति में हैं.

उनका कहना है कि उनके छोटे से कस्बे की जनसंख्या उस दिन दोगुनी हो गई थी क्योंकि करीब 3000 लोग इस कार्यक्रम में शामिल होने या देखने आए थे.

पब में कैसे पहुंचे?

पब बंद होने के समय, एक बजे, के बाद भी पुलिस अधिकारियों को पब में ‘ननों’ के कपड़े पहने लोग शराब पीते मिले.

पुलिस अधिकारियों पहले रात को 1.45 पर पब में गए. तब वहां 30 लोग ननों के कपड़े पहने शराब पी रहे थे.

दूसरी बार पुलिस सुबह 4.10 पर पब में गई. उस वक्त भी वहां 21 ‘नन’ बैठी हुई थीं.

वॉल्श का कहना है कि पहली बार तो वो पब में थे लेकिन दूसरी बार लोगों को उनके घर छोड़ने गए थे क्योंकि शहर में टैक्सी कम पड़ गई थीं.

उनके अनुसार लिस्टोवेल की आबादी करीब 3,000 है. और शनिवार रात लोगों को घर पहुंचाने के लिए सिर्फ़ दस टैक्सी थीं.

वाल्श ने दावा किया कि पब में बैठे ज़्यादातर लोग टैक्सी का इंतज़ार कर रहे थे.

उन्होंने मुकदमा दर्ज करने के फ़ैसले पर निराशा जताई.

लेकिन कहा कि ननडे पर हुए सहायतार्थ कार्यक्रम से 26,000 यूरो जुटाए गए.

वाल्श ने कहा कि लोगों को नन के रूप में इकट्ठा करने से पहले आयोजन समिति ने एक स्थानीय कॉन्वेंट और एक पादरी की सलाह मांगी थी.

दोनों ने इसके अच्छे उद्देश्य को सराहा और ननडे को शुभकामनाएं दीं.