BBC navigation

नॉर्वे में भारतीय दंपती को मिली सज़ा

 मंगलवार, 4 दिसंबर, 2012 को 16:19 IST तक के समाचार

नार्वे में अपने ही बच्चे के साथ हिंसा करने के आरोप में माता-पिता को सजा.

नॉर्वे में अपने बच्चे के साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने वाले भारतीय दंपती को नॉर्वे की एक अदालत ने सज़ा सुनाई है.

ओस्लो की अदालत ने इस मामले में बच्चे की मां अनुपमा को 15 और उसके पिता चंद्रशेखर को 18 महीने की कैद की सजा सुनाई है. अभियोजन पक्ष ने अदालत मे कहा कि अनुपमा और चंद्रशेखर के लिए यही सजा की मांग की थी, जिसे अदालत ने अपनी मंजूरी दे दी.

अदालत में अनुपमा और चंद्रशेखर पर यह दोष साबित हो गया कि वे अपने सात साल के बेटे के साथ हिंसक बर्ताव किया करते थे. इसमें बच्चे की बेल्ट से पिटाई करने के अलावा उसकी त्वचा को जलाने जैसे हिंसक आरोप शामिल थे.

उच्च न्यायालय में करेंगे अपील

भारतीय दंपती चंद्रशेखर वल्लभनेनी और उनकी पत्नी अनुपमा ने सजाए सुनाए जाने के बाद उच्च न्यायालय में अपील करने की बात कही है.

इन दोनों को अपने बेटे के साथ लगातार दुर्व्यवहार करने, उसे धमकाने और उसके साथ हिंसक बर्ताव करने के आरोप में पिछले सप्ताह हिरासत में लिया गया था.

इन दोनों के बेटे ने इस साल की शुरुआत में अपनी क्लास टीचर से कहा था कि उसके माता-पिता उसे भारत भेजने की धमकी दे रहे हैं. इसके नौ महीने बाद चंद्रशेखर और उनकी पत्नी की गिरफ्तार किया गया है.

हालांकि चंद्रशेखर वल्लभनेनी के परिवार का कहना है कि चंद्रशेखर और अनुपमा ने अपने सात वर्षीय बेटे को अनुशासित करने के लिए डांटा था.

पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर वी चंद्रशेखर टीसीएस कंपनी के लिए काम करते हैं और 18 महीने पहले ही आस्लो में उन्हें एक प्रोजेक्ट के सिलसिले में भेजा गया था.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.