ओबामा की अमीरों को चेतावनी

 शनिवार, 10 नवंबर, 2012 को 12:51 IST तक के समाचार

बराक ओबामा हाल में हुए चुनाव में दूसरी बार राष्ट्रपति चुने गए हैं

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने देश के अधिकतर लोगों को टैक्स बढ़ने के खतरे की चेतावनी देते हुए विपक्षी दल रिपब्लिकन पार्टी से देश के घाटे को कम करने में जल्दी समझौता करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि बजट घाटे में कटौती के किसी भी करार के तहत अमीरों को ज्यादा कर चुकाना होगा.

दूसरी बार चुनावी जीत हासिल करने के बाद पहली बार शुक्रवार के दिन व्हाइट हाउस के ईस्ट रूम में बराक ओबामा ने कहा, "हर अमरीकी को यह सुन लेना चाहिए. अगर प्रतिनिधि सभा इस साल के अंत तक राष्ट्रीय घाटे को कम करने संबंधी समझौता करने में नाकाम रहती है तो 98 प्रतिशत अमरीकियों के टैक्स पहली जनवरी से बढ़ जाएंगे. और इसका कोई तुक नहीं है. यह अर्थव्यवस्था के लिए ख़राब होगा और उन परिवारों के लिए परेशानी पैदा करेगा जो मुश्किल से अपना गुज़ारा कर पा रहे हैं."

ओबामा का कहना था कि चुनाव में जनता ने साफ़ तौर पर कह दिया है कि रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों ही पार्टियों को मिलकर देश के आर्थिक हालत को बेहतर बनाने के लिए काम करना होगा.

साझा प्रयास

उनका कहना था कि साल के अंत तक देश के घाटे को कम करने के लिए कई अहम फ़ैसले लेने होंगे और उन फ़ैसलों का अमरीकी अर्थव्यवस्था पर और अमरीकी मध्यमवर्ग पर गहरा असर पड़ेगा.

अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए अपनी योजना का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अमरीकी अर्थव्यवस्था और मध्यमवर्ग को मज़बूत करना होगा और कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिए जाने और शिक्षा जैसे मामलों में अधिक निवेश करना होगा जिससे स्वच्छ ऊर्जा और उच्च तकनीक वाली निर्माण क्षेत्र की नौकरियां दूसरे देशों को न जाएं.

"पिछले साल मैंने रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों ही पार्टियों के सांसदों के साथ मिलकर 1 खरब डॉलर के सरकारी खर्चों में कटौती की थी. मैं चाहता हूं कि फिर दोनों पार्टियों के साथ मिलकर काम करूं"

बराक ओबामा, अमरीकी राष्ट्रपति

बराक ओबामा ने कहा कि वह रिपब्लिकन पार्टी के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं, "पिछले साल मैंने रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों ही पार्टियों के सांसदों के साथ मिलकर 1 खरब डॉलर के सरकारी खर्चों में कटौती की थी. मैं चाहता हूं कि फिर दोनों पार्टियों के साथ मिलकर काम करूं."

लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि सिर्फ़ खर्चों में कटौती से काम नहीं चलेगा बल्कि राजस्व भी बढ़ाना पड़ेगा, जिसके लिए अमीर अमरीकियों को अधिक टैक्स देना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि वह अमीरों को टैक्स में छूट दिए जाने संबंधी किसी भी कानून को वीटो कर देंगे.

"मैं साफ़ तौर पर कहना चाहता हूं कि मैं अपनी योजनाओं में तब्दीली करने को तो तैयार हूं. लेकिन मैं यह नहीं करूंगा कि छात्रों, वृद्ध लोगों और मध्यम वर्ग के परिवारों से कहूं कि वह सारा घाटा कम करने का बोझ उठाएं और अमीरों को एक धेला भी अधिक टैक्स न देना पड़े. मैं यह नहीं करूंगा."

मध्यवर्ग को राहत

ओबामा चाहते हैं कि जो अमरीकी सालाना ढाई लाख डॉलर से अधिक कमाते हैं उन पर टैक्स बढ़ाए जाने चाहिए.

बराक ओबामा ने कहा कि अब इंतज़ार करने का समय नहीं है और अपनी जेब से पेन निकालकर कहा कि 'मैं एक संतुलित बिल पर फ़ौरन हस्ताक्षर करने के लिए तैयार हूं.'

ओबामा का कहना है कि मध्यम वर्ग के अमरीकी लोगों को कर में फ़ौरन छूट दी जानी चाहिए ताकि अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता खत्म करने में मदद मिल सके और विकास तथा नई नौकरियां भी पैदा हो सकें.

ओबामा को है रिपब्लिकन रोमनी की मदद का भरोसा

लेकिन प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन पार्टी के नेता जॉन बेनर का कहना है कि करों की दर बढ़ाने से घाटा कम नहीं होने वाला है.

वह कहते हैं, "यह तो साफ़ है कि घाटे के कारण हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है और हम कर्ज़ लेकर खर्च करना जारी नहीं रख सकते. लेकिन टैक्स में बढ़ोतरी करना इसका इलाज नहीं है. उससे नौकरियां पैदा करने में मुश्किल होगी."

रिपब्लिकन से आस

जॉन बेनर ने कहा है कि अगर राष्ट्रपति बराक ओबामा खर्चे कम करने के लिए तैयार हैं तो कोई बीच का रास्ता निकाला जा सकता है.

बेनर को अपनी ही रिपब्लिकन पार्टी में भी चुनौती का सामना है और कुछ नेता घाटे और करों के मुद्दों पर व्यापक सुधारों की बात कर रहे हैं.

अमरीकी सीनेटर मार्को रूबियो का कहना है, "अब रिपब्लिकन पार्टी के अधिकतर सदस्यों का मानना है कि इन अहम मुद्दों पर छोटा-मोटा समझैता करने की बजाए हमें बड़े पैमाने पर व्यापक सुधारों के ज़रिए दूरगामी हल निकालना चाहिए."

अमरीकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा से ही अमरीकी प्रशासन को खर्चे के लिए धन की मंज़ूरी मिलती है. और इस चुनाव के बाद भी प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन पार्टी ने अपना बहुमत बरकरार रखा है.

अब राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन पार्टी के नेता जॉन बेनर अगले हफ़्ते टैक्स और घाटे के मुद्दों पर बातचीत करने के लिए मुलाकात करेंगे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.